मैथ्यूज के दोहरे शतक से श्रीलंका की स्थिति मजबूत, जिम्बाब्वे के दूसरी पारी में 30 रन

Last Updated: गुरुवार, 23 जनवरी 2020 (00:33 IST)
हरारे। श्रीलंका के के पहले दोहरे शतक से श्रीलंका ने जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन बुधवार को यहां 9 विकेट पर 515 रन बनाकर पहली पारी घोषित कर दी। दिन का खेल खत्म होने तक जिम्बाब्वे ने दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के 30 रन बना लिए।
पहली पारी में 358 रन बनाने वाली यह टीम श्रीलंका से अब भी 127 रन पीछे है। मैथ्यूज ने 468 गेंदों की मैराथन पारी में 16 चौके और 3 छक्कों की मदद से नाबाद 200 रन बनाए। इससे पहले टेस्ट में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 160 रन था।

नवंबर 2018 के बाद पहली बार टेस्ट खेल रहे जिम्बाब्वे को हालांकि उस समय झटका लगा, जब पदार्पण कर रहे केविन कासुजा को चोट लगी और बेहोशी जैसी स्थिति (कनक्शन) के कारण उन्हें मैच से हटना पड़ा। उनकी जगह ब्रायन मुदजिंगान्यामा को टीम में शामिल किया गया, जो इस मैच में पदार्पण करने वाले जिम्बाब्वे के चौथे खिलाड़ी बने। सलामी बल्लेबाज काजुसा ने पहली पारी में 63 रन बनाए थे।
श्रीलंका ने दिन की शुरुआत 4 विकेट पर 295 रन से की। 32 साल के मैथ्यूज ने पहले सत्र में करियर का 10वां और दिसंबर 2018 के बाद पहला शतक पूरा किया। शतक पूरा करने के बाद उन्हें जीवनदान भी मिला, जब बाएं हाथ के स्पिनर आइंस्ले नाडलोवु की गेंद पर विकेटकीपर रेगिस चकबवा ने उनका कैच टपका दिया।

उन्हें अपनी नाबाद पारी के दौरान धनंजय डिसिल्वा (63) और निरोशन डिक्वेला (63) का अच्छा साथ मिला। मैथ्यूज और डिसिल्वा की 5वें विकेट के लिए 98 रन की साझेदारी को विक्टर नैउची (69 रन पर 3 विकेट) ने तोड़ा जबकि सिकंदर रजा (62 रन पर 3 विकेट) ने मैथ्यूज और डिक्वेला की 6ठे विकेट के लिए 136 रन की साझेदारी को खत्म किया।



और भी पढ़ें :