सीरीज शुरु होने से पहले क्लीन स्वीप की डींगे हांकने वाले जो रूट ने घर में हार के बाद कहा यह

पुनः संशोधित सोमवार, 14 जून 2021 (17:54 IST)
लंदन:के खिलाफ सीरीज शुरु होने से पहले के कप्तान जो रूट ने कहा था कि टेस्ट क्रिकेट की दो शीर्ष टीमों भारत और न्यूजीलैंड के खिलाफ क्लीन स्वीप करना इस साल के आखिर में चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया के खिलाफ ए​शेज श्रृंखला के लिये सर्वश्रेष्ठ तैयारी होगी।
लेकिन रविवार को न्यूजीलैंड से दूसरा टेस्ट मैच हारने के साथ ही टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने स्वीकार किया है कि न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को तीनों विभागों में मात दी। रूट ने माना कि यह उनकी टीम की तरफ से एक निराशाजनक प्रदर्शन था। उन्होंने जोर देकर कहा कि अभी विचलित होने और इतने लंबे समय तक हमने जो मेहनत की, उस पर बात करने के लिए यह गलत समय होगा।
इंग्लैंड की 2014 के बाद से और कप्तान के तौर पर रूट की अपने घर पर यह पहली सीरीज हार है। वहीं 1999 के बाद से इंग्लैंड में न्यूजीलैंड की यह पहली टेस्ट सीरीज जीत है।

रूट ने रविवार को दूसरा और अंतिम टेस्ट हारने के बाद एक बयान में कहा, “ इस हफ्ते हमारा प्रदर्शन विफल और निराशाजनक रहा है। मुझे नहीं लगता कि हमने खुद का सही आकलन किया है। हमें तीनों विभागों, खासकर बल्लेबाजी में मात दी गई है। पहली पारी में हम रन नहीं बना सके जो हमें बनाने चाहिए थे। हमने मैदान पर विकेट के कई मौके गंवाए और विकेट लेने में अपने गेंदबाजों की मदद नहीं की और दूसरी पारी में भी बल्ले से हमारा प्रदर्शन खराब रहा। ”
इंग्लैंड के कप्तान ने कहा, “ कभी-कभी टेस्ट क्रिकेट में गेंद के साथ आपका सत्र खराब हो सकता है, लेकिन आप फिर भी काफी हद तक खेल में बने रहते हैं, लेकिन कई बार एक सत्र ही बहुत भारी पड़ जाता है और यही हमारे साथ हुआ। इसका खामियाजा हमें श्रृंखला में हार के साथ चुकाना पड़ा, हालांकि हमें कुछ कठिन सबक सीखने को मिले हैं। हमें यह देखना होगा कि हम व्यक्तिगत और सामूहिक रूप से कहां बेहतर हो सकते हैं। हमें इसको लेकर ईमानदार होने की जरूरत है। हमें कुछ ठोस बातचीत करनी होगी और आगे बढ़ना होगा। ”
रूट ने कहा, “ हमें रचनात्मक होना होगा। मुझे लगता है कि टीम के हर एक खिलाड़ी ने साबित किया है कि वह टेस्ट में बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बना सकते हैं। अभी हमें टेंशन में नहीं आना है, क्योंकि यह समय टेंशन लेने का नहीं है। हमें आगे बढ़ना होगा और बेहतर होने के लिए और प्रयास करने होंगे। ”(वार्ता)



और भी पढ़ें :