वनडे सीरीज से भी बाहर हो सकते हैं जसप्रीत, क्या पक रहा है बोर्ड और बुमराह के बीच?

पुनः संशोधित मंगलवार, 2 मार्च 2021 (17:01 IST)
अहमदाबाद: भारत के तेज गेंदबाज के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज से भी बाहर रह सकते हैं और इस तरह भारतीय टीम में उनकी वापसी में समय ज्यादा लग सकता है।
बुमराह को पिछले हफ्ते इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट के बाद निजी कारणों से टेस्ट टीम से रिलीज कर दिया गया था और अब उनके एकदिवसीय श्रृंखला से भी बाहर रहने की आशंका है।

बुमराह को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज में भी आराम दिया गया है। इंग्लैंड के खिलाफ सीमित ओवर क्रिकेट से बुमराह की अनुपस्थिति से भारतीय टीम प्रबंधन को नए खिलाड़ियों को आजमाने का मौका मिलेगा। टी-20 सीरीज 12 मार्च से अहमदाबाद में शुरू होगी जबकि एकदिवसीय सीरीज 23 मार्च से पुणे में जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में दर्शकों की गैर मौजूदगी में शुरू होगा।
जसप्रीत बुमराह पहले ही टी-20 सीरीज से बाहर थे फिर उन्हें वनडे टीम में मौका न मिलना यह सवाल जरूर उठाता है कि बोर्ड और बुमराह के बीच कुछ खिचड़ी पक रही है। क्योंकि यह खबरें तीसरे टेस्ट के बाद उठनी शुरु हई जब चौथे टेस्ट के लिए बुमराह ने निजी कारणों से खुद को बाहर कर लिया।

गौरतलब है कि तीसरे टेस्ट में जसप्रीत बुमराह को मात्र 6 ओवर मिले थे जिसमें उन्होंने 19 रन दिए थे। यही नहीं यह उनके टेस्ट करियर का संभवत पहला मैच होगा जिसमें उन्होंने एक भी विकेट नहीं लिया। 19 मैचों में 83 टेस्ट विकेट ले चुके बुमराह जल्द से जल्द 100 विकेट लेना चाहते हैं लेकिन तीसरे टेस्ट जैसे मैच उनकी इस उपलब्धि में रोड़ा साबित हो सकते हैं। हो सकता है इस कारण भी उन्होंने चौथे टेस्ट से से अपना नाम वापिस लिया हो।
भारतीय पिच पर पहली टेस्ट सीरीज खेल रहे बुमराह तो यही सोचेंगे कि मैं सपाट और स्पिन की मददगार विकेट पर क्यूं खेलूं। विदेशी पिचों पर बुमराह ज्यादा असकरकारक हैं जहां वह ढेरों विकेट लेते हैं। ऐसे में उनकी ऊर्जा भी बचेगी और अनूकूल परिस्थितियों में ही उनका उपयोग होगा।

हालांकि बुमराह का यह सोचना शायद बीसीसीआई को नहीं भाया है इसलिए वह वनडे सीरीज में नए गेंदबाजों को मौका देने का मन बना रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरा गवाह है कि किसी भी सीनियर खिलाड़ी को अपनी जगह पक्की नहीं मानना चाहिए। कौन रातों रात कब स्टार बन जाए कुछ कह नहीं सकते।

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की वापसी अब आईपीएल 2021 में ही संभव लग रही है। इतना लंबा आराम उनकी फिटनेस के लिए तो सही है पर ऐसे में अंतिम ग्यारह से जगह जाने का डर भी लगा रहता है।




और भी पढ़ें :