बड़ी कामयाबी के बाद भी टीम इंडिया का हिस्सा क्यों नहीं बन पाया यह क्रिकेटर

पुनः संशोधित बुधवार, 28 अगस्त 2019 (20:21 IST)
शहर के जन्में ऑलराउंडर खिलाड़ी जलज सक्सेना का जन्म 15 दिसंबर 1986 को हुआ। जलज ने सन 2005 में अपना पहला पर्दापण प्रथम श्रीणी मैच मध्यप्रदेश के लिए खेला था लेकिन अपने खेल और करियर को बेहतर करने की तलाश में ये केरल चले गए।

केरल टीम का यह स्टार खिलाड़ी अब तक 113 प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच खेल चुका है। जलज ने हालही में दलीप ट्रॉफी में 6000 से अधिक रन और 300 से अधिक विकेट लेने का कीर्तिमान अपने नाम किए हैं।
ALSO READ:
ICC ने की क्रिकेट के भगवान सचिन पर टिप्पणी, ट्‍विटर पर मच गया बवाल

इस खास रिकॉर्ड के साथ वो सीके नायडू, वीनू मांकड़, चंदू सरवटे, बापू नाडकर्णी, चंदू बोर्डे़, एमएल जयसिम्हा, सलीम दुर्रानी, एस वेकेंटराघवन, आदिब अली, मदन लाल, कपिल देव, लाला अमरनाथ, विजय हजारे, पोली उमरीगर, रवि शास्त्री, जैसे दिग्गजों खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो गए हैं। इन सभी ने अपने घरेलू क्रिकेट में 6000 से अधिक रन और 300 से अधिक विकेट लिए थे।
उल्लेखनीय है कि इतनी उपलब्धि प्राप्त होने के बाद भी जलज ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें अब तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम में जगह नहीं मिल पाई है। 14 साल के अपने क्रिकेट करियर में जलज ने हमेशा अपने बल्ले और गेंदों से रनों, विकेटों की वर्षा कर टीम को जीत दिलाई है।

अंतरराष्ट्रीय टीम में चयन नहीं होने के सवाल पर जलज कहते हैं, 'ये मेरे हाथ में नहीं है, ये काम चयनकर्ताओं का है कि वो किसे मौका दें। मेरा काम सिर्फ क्रिकेट खेलना और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रेदर्शन करना है।

ALSO READ:
टेस्ट क्रिकेट में 7 रन पर 5 विकेट लेकर बुमराह ने रचा इतिहास और बन गए पहले एशियाई गेंदबाज

क्रिकेट लीग 2019 में दिल्ली कैपिटल्स ने जलज सक्सेना को अपनी टीम में शामिल किया था लेकिन उन्हें पूरे सीजन में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिल पाई। 2017-18 बीसीसीआई ने जलज को अपने शानदार प्रदर्शन के लिए 2 पुरस्कार भी दिए है। इतना ही नहीं, जलज पहले ऐसे भारतीय और विश्व के 6ठे खिलाड़ी हैं जिन्होंने 2 बार प्रथम श्रेणी मैच में शतक ठोका और 8 विकेट झटके हैं।

 

और भी पढ़ें :