India vs Australia ODI : वानखेड़े स्टेडियम पर 258 रनों की सबसे बड़ी साझेदारी

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| पुनः संशोधित बुधवार, 15 जनवरी 2020 (00:55 IST)
मुंबई। ऑस्ट्रेलिया की धाकड़ टीम ने मंगलवार को टीम इंडिया की पिछली तमाम जीतों की खुमारी उतारने में कोई कंजूसी नहीं की। दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और श्रीलंका की कमजोर टीमों को हराने के बाद फूल कर कुप्पा हुए जा रहे विराट के वीरों को ऑस्ट्रेलिया के 2 बल्लेबाजों ने ही उनकी हैसियत दिखा दी। डेविड वॉर्नर और फिंच की सलामी जोड़ी ने पर 258 रनों की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड बनाया।
इस स्टेडियम पर 258 रनों की पहले विकेट की साझेदारी के पहले 2017 में भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड के बल्लेबाज आर टेलर और टी लेथम के बीच चौथे विकेट की साझेदारी में वनडे में बने थे 200 रन।
इसके अलावा इस मैदान पर 2015 दक्षिण अफ्रीका के फाफ डू प्लेसिस और एबी डी‍'विलियर्स ने तीसरे विकेट के लिए अविजित 164 रन और 2015 में ही डीकॉक और फाफ डू प्लेसिस ने दूसरे विकेट के लिए 154 रनों की साझेदारी निभाई थी।
भारत के खिलाफ अन्य देशों की पहले विकेट की भागीदारी : 14 जनवरी 2020 को वॉर्नर और फिंच ने भारत के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी अविजित ओपनिंग साझेदारी (258 रन) निभाई। इससे पहले द. अफ्रीका के गैरी कर्स्टन-हर्शल गिब्स के बीच कोच्ची (2000) में 235, डेविड वॉर्नर-फिंच के बीच बेंगलुरु (2017) में 231 और पाकिस्तान के मोहम्मद हफीज-नासिर जमशेद के बीच मीरपुर (2012) में 224 रनों की साझेदारी पहले विकेट के लिए निभाई जा चुकी है।
वॉर्नर बने वनडे में दूसरे सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले ऑस्ट्रेलियाई : पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलिया के लिए वनडे में सबसे ज्यादा 29 शतक बनाए हैं। पोंटिंग के बाद डेविड वॉर्नर ऐसे दूसरे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने देश के लिए 18 शतक बनाए हैं। उनका 18वां शतक (नाबाद 128 रन) भारत के खिलाफ पहले वनडे मैच में आया। 16 शतक के साथ गिलक्रिस्ट तीसरे, 15 शतक के साथ फिंच चौथे और 10 शतक के साथ मैथ्यू हैडन पांचवें नंबर पर हैं।
वानखेड़े पर भारत की तीसरी बड़ी हार : 2020 में 10 विकेट से करारी हार के पहले 2015 में खेले गए वनडे में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 214 रनों से और 2017 में न्यूजीलैंड ने 6 विकेट से हराया था।




और भी पढ़ें :