इंग्लैंड में 5 टी20 खेलेगा भारत, ताकि मेजबान को हुए 4 अरब रूपए के नुकसान की हो सके भरपाई

Last Updated: मंगलवार, 14 सितम्बर 2021 (15:36 IST)
लंदन:भारत और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के बीच पांचवे टेस्ट के रद्द होने के कारण इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को करीब 4 अरब का नुकसान हुआ था। इस नुकसान की भरपाई करने के लिए भारत अगले साल इंग्लैंड में 2 अतिरिक्त टी-20 खेलेगा, इससे कुल टी-20 मैचों की संख्या 5 हो गई है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को अगले साल इंग्लैंड दौरे पर भारतीय क्रिकेट टीम के दो अतिरिक्त टी-20 मैच खेलने के लिए एक प्रस्ताव देने की पुष्टि की है।

ने कहा है कि दोनों पक्षों को मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने के बाद उत्पन्न गतिरोध पर एक सौहार्दपूर्ण समाधान के लिए समझौता करने का निर्णय लेना चाहिए। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने सोमवार को इस संबंध में कहा कि भारत इंग्लैंड के साथ दो अतिरिक्त टी-20 मुकाबले खेलने के लिए सहमत है, ताकि ईसीबी मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से हुए नुकसान को इस शर्त के साथ वसूल कर सके कि दोबारा नुकसान की भरपाई की मांग न हो।

शाह ने एक बयान में कहा, “ यह सही है कि हमने अगले साल जुलाई में इंग्लैंड दौरे के दौरान दो अतिरिक्त टी-20 मैच खेलने की पेशकश की है। तीन टी-20 के बजाय, हम पांच टी-20 खेलने के लिए तैयार हैं। वैकल्पिक रूप से हम एक टेस्ट भी खेलने के इच्छुक होंगे। यह ईसीबी पर निर्भर करता है कि वो इनमें से किस प्रस्ताव को चुनता है। ”

ब्रिटेन के अखबार ‘डेली मेल’ ने भी सोमवार को बीसीसीआई के इस प्रस्ताव के बारे में बताया था। अखबार के मुताबिक सिर्फ पुनर्निधार्रित टेस्ट के लिए ही नहीं, बल्कि ईसीबी के बजट में 40 मिलियन पाउंड की संभावित कमी को कम करने में मदद करने के उद्देश्य से भी प्रस्ताव पेश किया गया है।

बीसीसीआई सचिव ने यह भी कहा है कि बीसीसीआई ईसीबी द्वारा आईसीसी की विवाद समाधान समिति (डीआरसी) के दरवाजे पर दस्तक देने की खबरों से अनजान है, जिनमें ईसीबी द्वारा रद्द किए गए टेस्ट के नुकसान की भरपाई करने की मांग का जिक्र किया गया था। शाह ने हालांकि स्पष्ट किया है कि अतिरिक्त मैच तभी खेले जाएंगे, जब ऐसी कोई मांग नहीं होगी।

इस बीच शाह ने विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच कप्तान की भूमिका को थोड़े-थोड़े समय बाद बदलते रहने के किसी भी कदम से भी इनकार किया है। उन्होंने कहा, “ ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है और विराट ही टीम का नेतत्व कर रहे हैं और करेंगे। हम उनके पीछे खड़े हैं। मैं अपने सहयोगी अरुण सिंह धूमल की टिप्पणियों पर सहमत हूं।”

उल्लेखनीय है कि इससे पहले बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण सिंह धूमल ने भी कप्तानी को लेकर रोटेशन संबंधी प्रस्ताव से साफ इंकार किया था। उन्हाेंने कहा था, “ हम इस बात को समझते हैं कि ऐसा कोई भी प्रस्ताव भारतीय टीम के हित में नहीं होगा और खास तौर पर तब जब वह विश्व कप में भाग लेने वाली है।”

समझा जाता है कि भारतीय टीम में कोरोना संक्रमण के मामलों के बाद दोनों बोर्डों द्वारा मैच आयोजित करने को लेकर जताई गई आशंका के बाद मैनचेस्टर में होने वाला पांचवां और आखिरी टेस्ट मैच रद्द कर दिया गया था।

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम दो सीमित ओवर श्रृंखलाओं के लिए 2022 में दोबारा इंग्लैंड का दौरा करेगी। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने इसकी पुष्टि की है। ईसीबी ने अपने 2022 के घरेलू सत्र के शेड्यूल की घोषणा के साथ-साथ न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करने की भी पुष्टि की है। मेजबान इंग्लैंड न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज से अपने समर सत्र की शुरुआत करेगा। इंग्लैंड की टीम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) सर्कल 2021-2023 के तहत मौजूदा डब्ल्यूटीसी विजेता न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टेस्ट मैच खेलेगी।

जून में तीन टेस्ट मैचों के बाद इंग्लैंड जुलाई महीने में लगातार 12 सीमित ओवर मैच खेलेगा, जिसकी शुरुआत भारत के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज होनी थी जो अब बढ़कर 5 हो गई है। मेनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान में एक जुलाई से
सीरीज शुरू होगी। दूसरा मुकाबला तीन जुलाई को नॉटिंघम और तीसरा मैच छह जुलाई को साउथम्पटन में होगा। इसके बाद दोनों टीमों के बीच बर्मिंघम में नौ जुलाई को वनडे सीरीज शुरू होगी। 12 और 14 जुलाई को आखिरी दोनों मैच लंदन में खेले जाएंगे।



और भी पढ़ें :