लॉर्ड्स पर एक बार ही बल्लेबाजी करना चाहेगी भारतीय टीम, नजरें पारी की जीत पर

Last Updated: शुक्रवार, 13 अगस्त 2021 (11:49 IST)
सलामी बल्लेबाज (नाबाद 127) के शानदार शतक और उनकी रोहित शर्मा (83) तथा कप्तान विराट कोहली (42 ) के साथ दो शतकीय साझेदारियों की बदौलत ने के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन गुरूवार को पहली पारी में 90 ओवर में तीन विकेट पर 276 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

एक दिन में सिर्फ 3 विकेट खोकर भारतीय टीम करीब 300 रन बना चुकी है। ऐसे में भारत लॉर्ड्स टेस्ट में उस मुकाम के पास है जिसमें वह सिर्फ एक बार ही बल्लेबाजी करना पसंद करे। हालांकि यह बल्लेबाजों के आज के प्रदर्शन पर भी निर्भर करता है।

सिर्फ एक बार बल्लेबाजी कर इंग्लैंड को पारी की हार देने पर आज भारतीय टीम की नजर होगी। भारतीय टीम के बल्लेबाजो का आज वैसा ही प्रदर्शन करना होगा जैसा कल केएल राहुल और रोहित शर्मा ने किया। हो सकता है लॉर्ड्स पर साल 2014 में शतक लगाने वाले अजिंक्य रहाणे भी आज शतक लगा दें।
हालांकि कप्तान कोहली पिछले कुछ टेस्ट मैचों में सामने वाली टीम को फॉलोआन देने में हिचकते हैं। उन्हें चौथी पारी में 100 रन भी नही चेस करना पसंद नहीं है। इस कारण फॉलोऑन की स्थिती में भी कोहली वापस बल्लेबाजी कर सामने वाली टीम पर दबाव बना लेते हैं।

इस बार इंग्लैंड की परिस्थिती में 4 तेज गेंदबाज खेल रहे हैं। गौरतलब है कि स्पैल के दौरान तेज गेंदबाजों को ज्यादा थकान होती है। अगर इंग्लैंड की पारी जल्दी नहीं सिमटती तो फिर उन्हें एक बार फिर फॉलोऑन का विचार त्यागना पड़ सकता है।

इसके अलावा पिच के बारे में कल कमेंटेटर कह रहे थे कि लॉर्ड्स पर पिच जल्दी नहीं बिखरती है और स्पिन नदारद होने के कारण फुट मार्क्स भी नहीं दिखते तो बल्लेबाजी के लिए चौथा दिन आदर्श समय रहता है।

बहरहाल यह बात पक्की है कि अगर आज पूरे दिन भारत ने बल्लेबाजी कर ली तो यह टेस्ट इंग्लैंड जीतने की स्थिती में नहीं रहेगी।
कल राहुल ने तेज गेंदबाज मार्क वुड की गेंद पर बेहतरीन स्क्वेयर ड्राइव से चौका मारकर लॉर्ड्स में पहला और अपना कुल छठा शतक बनाया। राहुल लॉर्ड्स में शतक बनाने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। दो अन्य बल्लेबाज वीनू मांकड और मौजूदा भारतीय कोच रवि शास्त्री हैं।

एशिया के बाहर किसी भारतीय ओपनर का यह चौथा शतक है और इस मामले में उन्होंने पूर्व ओपनर वीरेंदर सहवाग की बराबरी कर ली है। राहुल का इंग्लैंड में यह लगातार तीन टेस्टों में तीसरा फिफ्टी प्लस का स्कोर है। उन्होंने शतक पूरा करने के बाद हेलमेट निकालकर बल्ला और हेलमेट उठाते हुए दर्शकों का अभिवादन किया और फिर कप्तान विराट के गले लगकर उनकी बधाई स्वीकार की। ऐसी ही पारी आज किसी दूसरे भारतीय बल्लेबाज को खेलनी होगी।



और भी पढ़ें :