जसप्रीत बुमराह का नॉटिंघम टेस्ट में 'पंजा', भारत जीत से एक विकेट दूर

Last Updated: मंगलवार, 21 अगस्त 2018 (23:49 IST)
नॉटिंघम। जसप्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी (85 पर 5 विकेट) के बूते पर इंग्लैंड के खिलाफ भारत पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच को जीतने की दहलीज पर खड़ा है। मैच के चौथे दिन का खेल समाप्त होने के समय तक इंग्लैंड ने 9 विकेट खोकर 311 रन बनाए। आदिल रशीद 30 और एंडरसन 8 रन पर नाबाद हैं। इंग्लैंड को अभी भी जीत के लिए 210 की जरूरत है। 
 
आज यदि भारत मैच में वापसी करने में सफल रहा है तो इसका श्रेय जसप्रीत बुमराह को जाता है, जिन्होंने 
इंग्लैंड के उप कप्तान और पहला टेस्ट शतक जमाने वाले जोस बटलर को 106 रन पर पगबाधा आउट करके ब्रेकथ्रू दिलवाया। बटलर पांचवें विकेट के रूप में आउट हुए। बुमराह ने एक ही ओवर में दूसरा विकेट ब्रॉड (20) का लिया। अंपायरों ने आज नियत समय में आधे घंटे का वक्त और बढ़ा दिया था ताकि मैच का फैसला आज ही हो जाए, लेकिन ऐसा हो न सका। 
 
इस टेस्ट मैच में उस वक्त नाटकीय मोड़ उस वक्त आया, जब बुमराह ने 'अंगद के पैर' की तरह जमीं जोड़ी बटलर और स्टोक्स को तोड़ा। इस जोड़ी ने पांचवें विकेट के लिए 169 रनों की साझेदारी निभाई। यही नहीं, उन्होंने अपने ओवर में वोक्स को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों आउट किया। 
 
इंग्लैंड ने आठवां विकेट बेन स्टोक्स का खोया, जिन्हें हार्दिक पांड्‍या की गेंद पर स्लिप में लोकेश राहुल ने लपका। स्टोक्स ने 62 रनों की पारी खेली। जसप्रीत बुमराह ने स्टुअर्ट ब्रॉड (नौंवा विकेट) को पैवेलियन भेजकर पांचवां विकेट हासिल किया। इससे पहले बुमराह ने दक्षिण अफ्रीकी दौरे में जोहानसबर्ग टेस्ट में भी पांच विकेट लिए थे।
 
इंग्लैंड ने आज सुबह कल के स्कोर 23 रन (बिना विकेट खोए) से आगे खेलना शुरू किया लेकिन उसके बल्लेबाजों को इस बात का बिलकुल भी इल्म नहीं था कि पहला सत्र भारतीय गेंदबाजों के नाम होने जा रहा है।
  
ईशांत शर्मा ने सुबह अपने पहले ही ओवर में इंग्लैंड को बड़ा झटका दिया। ईशांत की गेंद पर कीटोन जेनिंग्स 13 रनों के निजी स्कोर पर विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों में कैच दे बैंठे। इंग्लैंड का पहला विकेट 27 रन के स्कोर पर गिरा।
 
ईशांत ने भारत को दूसरी सफलता एलेस्टेयर कुक (17) जैसे धाकड़ बल्लेबाज को स्लिप में लोकेश राहुल के हाथों कैच आउट करवाकर दिलाई। इस तरह इंग्लैंड के दोनों सलामी बल्लेबाज 32 रनों के कुल स्कोर पर पैवेलियन कूच कर गए थे। ईशांत की धारदार गेंदबाजी के सामने इंग्लिश बल्लेबाज काफी असहाय नजर आए।
भारतीय गेंदबाजी किस कदर हावी रही, इसका नजारा बुमराह ने पेश किया, जब उन्होंने कप्तान जो रूट (13) को लोकेश राहुल के हाथों झिलवा दिया। इंग्लैंड 62 रनों पर अपने तीन कीमती विकेट गंवाकर रनों के लिए जूझ ही रहा था कि शमी ने उसे चौथा सदमा दे डाला। शमी की गेंद पर ऑली पोप 16 रन बनाकर विराट को कैच थमा बैठे। इंग्लैंड लंच के पहले 62 रनों पर चार विकेट खो चुका था।
 
लंच के समय इंग्लैंड ने 4 विकेट खोकर 84 रन बनाए थे। जोस बटलर 19 और स्टोक्स 3 रन पर नाबाद थे। विकेट जबरदस्त रूप से स्पिन ले रहा है। भोजन से पहले अश्विन ने मैडन ओवर डाला और अपनी घुमावदार गेंदों से अचंभित किया।
 
उल्लेखनीय है कि भारत ने पहली पारी में 329 और दूसरी पारी 7 विकेट पर 352 रनों पर घोषित की थी। इंग्लैंड की पहली पारी 161 रनों पर धराशायी हो गई थी। इस तरह भारत ने इंग्लैंड को जीत के लिए रिकॉर्ड 521 रन का लक्ष्य दिया था। भारत की दूसरी पारी में विराट कोहली का 23वां शतक आकर्षण का केंद्र रहा था।




और भी पढ़ें :