डे नाइट टेस्ट के दूसरे दिन भी बारिश ने डाला खलल, 5 विकेट पर भारत ने बनाए 276 रन

Last Updated: शुक्रवार, 1 अक्टूबर 2021 (19:48 IST)
हमें फॉलो करें
गोल्ड कोस्ट:भारतीय सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने शुक्रवार को यहां आस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक महिला दिन-रात्रि मैच में पहला टेस्ट शतक जड़कर सुर्खियां बटोरीं लेकिन बारिश के कारण दूसरे दिन का खेल जल्दी खत्म करना पड़ा।

डिनर ब्रेक के बाद बिजली गरजने से खिलाड़ियों को मैदान छोड़कर जाना पड़ा तब तक ने 101.5 ओवर में पांच विकेट गंवाकर 276 रन बना लिये थे। खराब मौसम के कारण एक सत्र से ज्यादा समय का खेल खराब हो गया। बिजली गरजने के साथ बारिश भी हुई जिससे आउटफील्ड गीली हो गयी।

कैरारा ओवल की शानदार निकासी व्यवस्था के बावजूद खेल शुरू नहीं हो सका क्योंकि आउटफील्ड को सूखने के लिये कुछ घंटों से ज्यादा समय की जरूरत थी। यहां तक कि मैदानकर्मियों ने सुपर-सॉपर भी लगाये।
अंपायरों ने स्थानीय समयानुसार शाम को साढ़े आठ बजे मैदान का निरीक्षण किया और दिन का खेल खत्म करने का फैसला किया। गुरूवार को शुरूआती दिन के खेल के दौरान भी खेल जल्दी खत्म करना पड़ा था।

दीप्ति शर्मा 12 रन बनाकर खेल रही थीं जबकि तानिया भाटिया ने अभी खाता नहीं खोला था। खेल रोके जाने के बाद पिच पर कवर लगा दिया गया और खिलाड़ी भी मैदान से चली गयीं।अब मैच के अंतिम दो दिनों में प्रत्येक दिन 108 ओवर फेंके जायेंगे।

भारत ने दूसरे सत्र में दो विकेट गंवाये जिसमें कप्तान मिताली राज (30) और पदार्पण कर रही यास्तिका भाटिया (19) के विकेट शामिल थे। मिताली लंबी पारी खेलने के लिये अच्छी फार्म में दिख रही थीं लेकिन वह कुछ खूबसूरत शॉट लगाने के बाद रन आउट हो गयीं।

इससे पहले सलामी बल्लेबाज मंधाना ने पहला टेस्ट शतक लगाने के साथ कई रिकॉर्ड अपने नाम किये जबकि उनकी इस पारी की मदद से भारत ने दूसरे दिन पहले सत्र में तीन विकेट पर 231 रन बना लिये थे।

डिनर ब्रेक के समय भारत की स्थिति काफी मजबूत थी जिसने एक विकेट पर 132 रन से आगे खेलना शुरू किया था।25 वर्ष की मंधाना दिन रात के टेस्ट में शतक जमाने वाली पहली भारतीय महिला बन गई। इसके साथ ही आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पारंपरिक स्वरूप में तिहरे अंक तक पहुंचने वाली पहली भारतीय बन गई।

मंधाना ने 216 गेंद में 22 चौकों और एक छक्के की मदद से 127 रन बनाये। उन्होंने पूनम राउत के साथ दूसरे विकेट के लिये 102 रन जोड़े जो आस्ट्रेलिया में रिकॉर्ड है। इससे पहले उन्होंने शेफाली वर्मा के साथ पहले विकेट की साझेदारी में 93 रन बनाये थे।उन्होंने एलिसे पैरी को 52वें ओवर में पुल शॉट लगाकर अपना शतक पूरा किया।

मंधाना अपने कल के स्कोर 80 रन पर ही आउट हो जाती लेकिन दूसरे ओवर में पैरी की गेंद नोबॉल निकली। रिप्ले ने दिखाया कि कैच भी स्पष्ट नहीं था।आखिरकार ऐश गार्डनर की गेंद पर वह शॉर्ट मिडआफ में कैच देकर लौटी।राउत विकेट के पीछे कैच देकर आउट हुईं। (भाषा)



और भी पढ़ें :