भारत और बांग्लादेश के बीच पहले डे-नाइट टेस्ट को लेकर रोहित शर्मा रोमांचित

Last Updated: गुरुवार, 31 अक्टूबर 2019 (23:50 IST)
नई दिल्ली। के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के खिलाफ कोलकाता के में होने जा रहे देश के पहले को लेकर काफी रोमांचित हैं और उन्होंने उम्मीद जताई है कि टीम इंडिया इस मैच में भी 60 अंक हासिल करेगी।

रोहित ने से 22 नवंबर से होने जा रहे इस दिन-रात्रि टेस्ट को लेकर पूछे जाने पर कहा, यह पहला मौका है जब हम डे नाइट टेस्ट खेलेंगे। टीम के बाकी खिलाड़ियों का तो पता नहीं लेकिन मैं खुद इस मैच को लेकर बहुत रोमांचित हूं। मैंने दुलीप ट्रॉफी में गुलाबी गेंद से एक मैच खेला था और मेरा अनुभव काफी अच्छा रहा था।
जबरदस्त फॉर्म में चल रहे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में 3 शतक ठोकने वाले रोहित स्पोर्ट्स ब्रांड ट्रूसॉक्स के ब्रांड एम्बेसेडर बने हैं। इसके लांच के मौके पर रोहित ने कहा, हम काफी समय से डे नाइट टेस्ट का इंतजार कर रहे थे। हमारा यह इंतजार अब पूरा होने जा रहा है। उम्मीद है कि हम इस मुकाबले में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे और पूरे 60 अंक हासिल करेंगे।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के सामने ईडन गार्डन में डे नाइट टेस्ट खेलने का प्रस्ताव रखा था जिसपर बीसीबी ने सहमति जता दी है। दोनों ही टीमों का यह पहला डे नाइट टेस्ट होगा। भारतीय कप्तान विराट कोहली भी इस मैच के लिए सहमत हैं और बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली इस मुकाबले को लेकर काफी उत्साहित हैं। टीम के शीर्ष बल्लेबाज रोहित ने भी इस मुकाबले को लेकर अपनी उत्सुकता जाहिर की है।

बांग्लादेश के खिलाफ 3 नवंबर से शुरू हो रही 3 मैचों की ट्वंटी 20 सीरीज में कप्तानी संभालने जा रहे रोहित ने कप्तानी के मुद्दे पर कहा, मेरे लिए यह मायने नहीं रखता है कि मुझे एक सीरीज के लिए या एक मैच के लिए कप्तानी मिली है। मेरे लिए यह बड़े गर्व की बात है कि मैं भारत की टीम की कप्तानी कर रहा हूं और टीम का नेतृत्व करते हुए उसे मैदान में ले जा रहा हूं। फिर चाहे कप्तानी एक मैच की हो या एक सीरीज की।

सीमित ओवरों के उपकप्तान और इस ट्वंटी 20 सीरीज के कप्तान रोहित ने साथ ही कहा, मैं कभी यह नहीं सोचता कि मुझे एक सीरीज के लिए कप्तान बनाया गया। मुझे जब भी कप्तानी दी जाती है मैं उसके लिए तैयार रहता हूं। वैसे भी कप्तानी का मुद्दा हमारे हाथ में नहीं होता है। जब हमने खेलना शुरू किया था तब हम यही सोचते थे कि देश के लिए खेलें। ऐसे में आप समझ सकते हैं कि देश की कप्तानी करना एक खिलाड़ी के लिए कितने गर्व की बात है।

राजधानी के प्रदूषण और विपक्षी टीम बांग्लादेश के खिलाड़ियों के अरुण जेटली स्टेडियम के फिरोजशाह कोटला मैदान में मास्क पहनकर अभ्यास करने के बारे में पूछने पर रोहित ने कहा, मैं कुछ देर पहले ही फ्लाइट से उतरा था और यहां आने तक मुझे कोई परेशानी महसूस नहीं हुई।
पिछले साल भी हमने ऐसे ही मौसम में टेस्ट खेला था और तब भी कोई परेशानी महसूस नहीं हुई थी। हमें बताया गया है कि 3 नवंबर को मैच होना है और हमारे पास मैच को लेकर यही जानकारी है। अपने प्रदर्शन को लेकर रोहित ने कहा, मैं जब भी मैदान में उतरता हूं तो मेरा लक्ष्य टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना होता है।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मैंने अच्छा प्रदर्शन किया था और इसी प्रदर्शन को मैं बांग्लादेश के खिलाफ, वेस्टइंडीज के खिलाफ और फिर न्यूजीलैंड दौरे में बरकरार रखना चाहता हूं। बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली के लिए रोहित ने कहा, मैं उन्हें बरसों से जानता हूं और जब मैंने खेलना शुरू किया था तब मैं उनके साथ खेला था। मेरी हाल में उनसे मुलाकात हुई थी और इस दौरान हमने टीम चयन पर चर्चा की थी।
इसी बीच बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब अल हसन पर लगाए गए आईसीसी के प्रतिबंध के बारे में पूछने पर रोहित सिरे से उखड़ गए और उन्होंने कहा कि वह आईसीसी नहीं है जो इस मुद्दे पर कोई जवाब दें।



और भी पढ़ें :