शास्त्री और कोहली के 'बेस्ट ऑफ 3' के विचार को ICC ने किया दरकिनार, WTC का एक ही फाइनल संभव

Last Updated: शुक्रवार, 25 जून 2021 (14:22 IST)
दुबई:आईसीसी के कार्यकारी मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ज्योफ एलार्डिस ने एक बयान में कहा, “ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट शैड्यूल की वास्तविकता यह है कि हमारे पास ऐसी स्थिति नहीं होने वाली है, जहां फाइनल के लिए टीमों को एक महीने तक रोकना मुमकिन हाे, इसलिए एक मैच के फाइनल का फैसला किया गया है। यह काफी रोमांचक इसलिए है, क्योंकि यह कुछ नया लाता है। दो साल के चक्र में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम का फैसला करने के लिए हमारे पास एक बार का टेस्ट मैच है। ”

उल्लेखनीय है कि आईसीसी हाल ही में अपने 2024-31 चक्र के अंत तक के एक ही फाइनल की घोषणा की है, हालांकि वह यह पहले ही स्वीकार कर चुका है कि एक पूर्ण श्रृंखला के कितने मायने हैं, लेकिन उसने तार्किक रूप से यह संभव न हो पाने की बात कही थी।

डब्ल्यूटीसी का एक फाइनल होना राेमांचक : विलियम्सन
आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के विजेता कप्तान केन विलियम्सन ने डब्ल्यूटीसी के इकलौते फाइनल को लेकर भारतीय कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री के विचारों से विपरीत प्रतिक्रिया दी है।

उन्होंने कहा, “ मुझे लगता है कि फाइनल का रोमांचक हिस्सा यह है कि एक बार में कुछ भी हो सकता है। हम जानते हैं कि क्रिकेट कितना अस्थिर है और हमने अन्य प्रतियोगिताओं, विश्व कपों और अन्य सभी छोटे प्रारूपों में यह देखा है। इकलौते फाइनल का एकमात्र कारक अनूठी गतिशीलता भी है, जो इसे रोमांचक बनाता है। एक बार में कुछ भी हो सकता है। हम उस बयान के सभी अलग-अलग पक्षों पर रहे हैं। ”
के कप्तान ने कहा, “ मुझे लगता है कि दोनों पक्षों के लिए तर्क हैं और मुझे लगता है कि सबसे बड़ी चुनौती शेड्यूलिंग होगी, क्योंकि अत्यधिक क्रिकेट के बीच श्रृंखला का आयोजन मुश्किल होगा, लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि अगर आपके पास एक श्रृंखला होगी और जितना अधिक क्रिकेट होगा, आप उतना ही अधिक अच्छा कर पाएंगे और यह आपके चरित्र को प्रमाणित करेगा। यह सच में एक रोमांचक मैच था। पहली बार ऐसी प्रतियोगिता हुई है और दोनों टीमें खेल के लिए पूरी तरह से तैयार थीं। ”

गौरतलब है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल शुरु होने से पहले भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप एक फाइनल तक सीमित ना होकर इसे 3 टेस्ट मैचों की एक सीरीज बना दी जाए। वहीं कप्तान कोहली ने भी पहला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल न्यूजीलैंड के हाथों 8 विकेट से हारने के बाद कहा कि एक टेस्ट से बेस्ट टीम का आंकलन करना गलत है।(वार्ता)



और भी पढ़ें :