इंग्लैंड ने टेस्ट जीत के लिए कभी नहीं बनाया इतना बड़ा स्कोर, ओवल पर भी नहीं हो सका इतने रनों का पीछा

Last Updated: सोमवार, 6 सितम्बर 2021 (15:22 IST)
ओवल में बनाम के बीच खेला जा रहा चौथा टेस्ट रोमांचक मोड़ पर पहुंच चुका है।भारत ने अपनी दूसरी पारी में 466 रन बनाकर इंग्लैंड के सामने 368 रन का लक्ष्य रखा जिसने चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 77 रन बनाये हैं। इस तरह से इंग्लैंड अब लक्ष्य से 291 रन दूर है। भारत ने पहली पारी में 191 रन बनाये थे जिसके जवाब में इंग्लैंड ने 290 रन बनाकर 99 रन की बढ़त ली थी।

ओवल में अब तक कोई भी टीम से 263 रन से अधिक का लक्ष्य हासिल नहीं कर पायी है, जो कि मौजूदा लक्ष्य से करीब 100 रन कम है।लेकिन पिच अब भी बल्लेबाजी के लिये अनुकूल है। रोरी बर्न्स (नाबाद 31) और हसीब हमीद (नाबाद 43) ने जिस तरह से भारत को विकेट के लिये तरसाये रखा उससे गेंदबाजों को लग गया होगा कि पांचवें दिन उन्हें विकेट हासिल करने के लिये अतिरिक्त प्रयास करने होंगे।

इंग्लैंड के लिहाज से भी देखें तो वह टेस्ट क्रिकेट में कभी भी 350 से ज्यादा का स्कोर चौथी पारी में बल्लेबाजी कर नहीं बना पायी है। इसका सीधा सीधा मतलब यह है कि अगर आज इंग्लैंड को यह टेस्ट जीतना है तो उसे इतिहास रचना होगा।
Ben stokes

लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड को 2 साल पहले हेडिंग्ले में मिली थी सबसे बड़ी जीत

एशेज में खेला यह टेस्ट मैच इसलिए भी याद रखा जाएगा क्योंकि इंग्लैंड की पहली पारी केवल 67 रनों पर ढेर हो गई थी जबकि पांचवें और अंतिम दिन उसने दूसरी पारी में 9 विकेट पर 362 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया पर शानदार जीत दर्ज की। 'प्लेयर ऑफ द मैच' घोषित होने वाले बेन स्टोक्स ने 219 गेंदों पर नाबाद 135 रन की विजयी पारी में 11 चौके और 8 छक्के लगाए। उन्होंने चौके के साथ इंग्लैंड की जीत पर मुहर लगाई थी।
लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड के इतिहास की यह सबसे बड़ी और 1 विकेट से चौथी जीत थी। स्टोक्स ने जैक लीच के साथ 10वें विकेट के लिए 62 गेंदों में 76 रन की अविजित साझेदारी की थी। इस साझेदारी में लीच ने 17 गेंदों पर नाबाद 1 रन बनाया जबकि इसमें स्टोक्स का योगदान 74 रन का रहा था।

मौसम और पिच दिख रही अनूकूल पर क्या बनेगा इतिहास

मैच और पिच की हालात देखें तो ड्रॉ होने की संभावना को नकारा नहीं जा सकता। फुटमार्क को छोड़ दे तो पिच पर कोई टूट फूट नहीं है। नई गेंद का खतरा इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स और हसीब हमीद ने टाल दिया है। चौथे दिन के अंतिम सत्र तक पिच में सामन्य उछाल ही दिखा है। वहीं पांचवे दिन में भी चौथे दिन की तरह धूप खिले रहने के आसार है। पांचवे दिन की सारी भारतीय उम्मीदें शायद जाड़ेजा पर आकर रुक सकती है। लेकिन 3 सत्र में 291 रन बनाना भी इंग्लैंड के लिए आसान नहीं होगा।

इसके अलावा इंग्लैंड का बल्लेबाजी क्रम ओवल में लॉर्ड्स के बल्लेबाजी क्रम से बेहतर दिख रहा है। सीरीज में इससे पहले सिर्फ पर ही इंग्लैंड की पूरी टीम निर्भर थी लेकिन इस टेस्ट की पहली पारी में रूट के सस्ते में निपट जाने के बाद भी टीम ने भारत पर 99 रनों की बढ़त ली। पहली पारी में इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक रन (81) बना चुके ओली पोप का भी यह घरेलू मैदान है। इस कारण उनके प्रदर्शन पर भी नजरे रहेंगी। क्रिस वोक्स और ओवरटन भी बल्ले से अच्छा स्कोर बना सकते हैं।(वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :