चेतेश्वर पुजारा ने कहा, 'किसी भी टीम को हराने का दम रखते हैं हम'

पुनः संशोधित गुरुवार, 20 मई 2021 (19:11 IST)
मुंबई:भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के दिग्गज एवं अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने कहा है कि मौजूदा समय में भारतीय टीम दुनिया की किसी भी टीम को हराने की क्षमता रखती है।

में के खिलाफ (डब्ल्यूटीसी) फाइनल से पहले पुजारा ने यह बड़ी प्रतिक्रिया दी है। पुजारा ने डब्ल्यूटीसी फाइनल को लेकर कहा कि दोनों टीमों के बीच जबरदस्त मुकाबला देखने को मिल सकता है, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं है कि इस वक्त भारतीय टीम बहुत मजबूत है और वो किसी को भी हरा सकती है।
पुजारा ने गुरुवार को ऑनलाइन दिए एक साक्षात्कार में कहा, “ पिछले दो वर्षाें में भारतीय टीम का सफर काफी शानदार रहा है। हमने बेहतरीन प्रदर्शन किया और डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। भारत और न्यूजीलैंड के बीच उच्च स्तरीय मुकाबला होगा। दोनों ही टीमें बराबरी की दिखती हैं। हमारे सारे बेस कवर हैं और अगर हम अपनी क्षमता के हिसाब से खेले तो दुनिया की किसी भी टीम को हरा सकते हैं। ”
भारत और न्यूजीलैंड की टीम 18 जून को इंग्लैंड के साउथम्प्टन के एजेस बाउल मैदान पर डब्ल्यूटीसी फाइनल खेलेगी। भारत ने जब आखिरी बार इस मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था तो पुजारा ने उस मैच में 132 रनों की नाबाद पारी खेली थी। ऐसे में डब्ल्यूटीसी फाइनल में भी सभी उनसे इसी तरह की पारी की उम्मीद करेंगे।

दिग्गज टेस्ट बल्लेबाज ने भारतीय टीम के बेंच स्ट्रेंथ को लेकर कहा, “ हमारा बेंच स्ट्रेंथ काफी मजबूत है और हमने इंग्लैंड के खिलाफ हालिया टेस्ट सीरीज में यह साबित भी किया है। इस समय भारतीय टीम के पास वाकई शानदार प्रतिभा है। बात चाहे हमारी बल्लेबाजी की हो या गेंदबाजी की, हमारे पास बहुत अच्छे बैकअप विकल्प मौजूद हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज इस बात का सबसे बड़ा उदाहरण थी। उस सीरीज में हमारे कई खिलाड़ी चोटिल हो गए थे, लेकिन नए और युवा खिलाड़ियों ने टीम को सीरीज जिताई। इस भारतीय टीम में हर कोई अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है और यह एक अच्छी टीम की निशानी है।

इंग्लैंड के भारत दौरे पर चेतेश्वुर पुजारा का बल्ला शांत ही रहा। पहले टेस्ट की पहली पारी को छोड़ दिया जाए तो वह कुछ भी खास नहीं कर पाए। भारतीय पिच पर उनका फ्लॉप होना टीम इंडिया को नुकसान इसलिए नहीं पहुंचा पाया क्योंकि दूसरे बल्लेबाजों ने लंबी पारियां खेली।
लेकिन इंग्लैंड की पिच पर उनके बल्ले से टीम इंडिया को काफी रनों की दरकार रहेगी क्योंकि पिच पर घास रहने वाली है। इंग्लैंड की पिच पर पुजारा ने कुल 9 टेस्ट खेले हैं और 1 शतक और 2 अर्धशतक की मदद से 500 रन बनाए हैं। टीम इंडिया को पहले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप और फिर इंग्लैंड में घरेलू टीम से 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है।(वार्ता)



और भी पढ़ें :