बॉल टेम्परिंग विवाद पर पोंटिंग बोले, बात का बतंगड़ बनाया

पुनः संशोधित गुरुवार, 5 अप्रैल 2018 (22:22 IST)
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान उन दावों से सहमत नहीं हैं कि गेंद से छेड़छाड़ और छींटाकशी उनके देश की क्रिकेट संस्कृति में गहराई से रची बसी है लेकिन वह इस बात से राहत महसूस कर रहे हैं कि दक्षिण अफ्रीका में हुई शर्मनाक घटना अब समाप्त हो गई है क्योंकि इसमें शामिल तीनों खिलाड़ियों ने खुद पर लगे प्रतिबंध को चुनौती देने से इनकार कर दिया है।

स्टीव स्मिथ, और ने घोषणा की कि उन्होंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा लगाए गए प्रतिबंध स्वीकार कर लिए हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इस बात की समीक्षा कर रही है कि क्या गेंद से छेड़छाड़ और छींटाकशी देश की क्रिकेट संस्कृति का हिस्सा रही है लेकिन स्पष्ट बात करने वाले पोंटिंग इस बात से इत्तेफाक नहीं रखते।

पोंटिंग ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘संस्कृति का मुद्दा मेरे लिए सचमुच दिलचस्प चीज है। अगर हम दो महीने पीछे मुड़कर देखें जब ऑस्ट्रेलिया ने शानदार तरीके से एशेज सीरीज जीती थी तो तब संस्कृति संबंधित समस्या या इस तरह के मुद्दे की कोई बात नहीं हुई थी।'

उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे काफी बार लगता है कि सांस्कृतिक चीजों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा सकता है जबकि ड्रेसिंग रूम के अंदर की चीज बाहर हो रही बातों से बिलकुल ही अलग होती है। ईमानदारी से कहूं तो इस मौके पर मुझे लगता है कि संस्कृति वाली बात का कुछ हद तक बतंगड़ बनाया जा रहा है।' (भाषा)



और भी पढ़ें :