ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों का व्यवहार सुधारने के लिए 'गुरु' नियुक्त

पुनः संशोधित मंगलवार, 1 मई 2018 (18:26 IST)
सिडनी। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को झकझोर देने वाले 'बॉल टेम्परिंग' मामले में कप्तान स्टीवन स्मिथ और उपकप्तान डेविड वार्नर जैसे बड़े खिलाड़ियों की संलिप्तता से हैरान राष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड ने देश में खेलों के माहौल की समीक्षा के लिए आचार संहित विशेषज्ञों की नियुक्ति करने का फैसला लिया है।

दक्षिण अफ्रीका दौरे में टेस्ट सीरीज़ के दौरान न्यूलैंड्स टेस्ट में बॉल टेम्परिंग में दोषी पाए गए कप्तान स्मिथ, वार्नर और बल्लेबाज़ कैमरन बेनक्राफ्ट पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने एक-एक वर्ष और क्रमश: नौ माह का प्रतिबंध लगा दिया था। इस प्रकरण के बाद अब सीए ने देश में खेलों के माहौल की आचार संहिता की समीक्षा के लिए विशेषज्ञों की नियुक्ति का फैसला किया है।

सीए अध्यक्ष डेविड पीवर ने अपने बयान में कहा, हमारा बोर्ड बॉल टेम्परिंग जैसे प्रकरण को भविष्य में रोकने के लिए हर कदम उठाने को प्रतिबद्ध है। कोच डैरेन लेहमैन ने भी आलोचनाओं के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, हालांकि सीए ने उन्हें इस मामले में क्लीन चिट दे दी थी।

ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ने माना है कि टीम के माहौल और एकजुटता से जुड़ी समस्याएं हैं। सीए ने मंगलवार को कहा कि साइमन लांगस्‍टॉफ आचार संहिता और टीम संस्कृति को लेकर व्यापक समीक्षा करेंगे। लांगस्टाफ सिडनी स्थित गैर लाभकारी संस्था आचार संहिता सेंटर के प्रमुख हैं, जिसका काम कारोबार, सरकार, आमजीवन के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी बेहतर संस्कृति पैदा करने को लेकर प्रचार-प्रसार करना है।

लांगस्टाफ ऑस्ट्रेलियाई टीम और उसके खिलाड़ियों तथा सपोर्ट स्टाफ से क्वीज़ प्रश्नों के जरिए उनके मन की बात जानने की कोशिश करेंगे। वे ऑस्ट्रेलियाई टीम को लेकर अपनी सिफारिश करने से पूर्व खिलाड़ियों, प्रायोजकों, प्रशासकों, मीडिया आदि से सवाल-जवाब कर सकते हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :