न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले मैच में नहीं खेलेंगे रहाणे!

मुंबई| पुनः संशोधित शनिवार, 21 अक्टूबर 2017 (18:05 IST)
मुंबई। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को स्पष्ट किया कि अच्छी फार्म में चल रहे बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे टीम के तीसरे सलामी बल्लेबाज हैं जिससे यह तय हो गया कि वे के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला के कल यहां होने वाले पहले मैच में नहीं खेल पाएंगे।
शिखर धवन और रोहित शर्मा टीम के नियमित सलामी बल्लेबाज हैं। धवन की अनुपस्थिति में रहाणे से पारी का आगाज करने के लिए कहा गया और उन्होंने हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान लगातार चार अर्द्धशतक जड़े। भारत ने यह श्रृंखला 4-1 से जीती थी।

कोहली ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा कि उसने (रहाणे) तीसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में निश्चित तौर पर अवसरों का पूरा फायदा उठाया। मैंने जैसे कहा था कि केएल राहुल भी सलामी बल्लेबाज के लिए दौड़ में बना हुआ था लेकिन जिंक्स (रहाणे) ने अच्छा प्रदर्शन किया और मौके का फायदा उठाया।

उन्होंने कहा कि जब चार खिलाड़ी एक ही पोजीशन में खेलते हों तो फिर टीम का संयोजन इसी तरह से बनता है और निश्चित तौर पर अब इनमें से एक को बाहर बैठना होगा क्योंकि केवल दो ही अंतिम एकादश में खेल सकते हैं। कोहली ने कहा कि वे नहीं चाहते कि रहाणे मध्यक्रम में उतरकर भ्रम में पड़ें।

उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि उसे (रहाणे) मध्यक्रम में उतारकर हम भ्रम में डालें क्योंकि वनडे क्रिकेट में आपको अपना खेल अपनी पोजीशन के हिसाब से तय करना पड़ता है। वह हमेशा शीर्ष क्रम में अच्छा प्रदर्शन करता रहा है क्योंकि उसकी तकनीक उसके अनुकूल है। इससे उसे गेंदबाजों पर हावी होने की स्वतंत्रता मिलती है।

कप्तान ने कहा कि ‘इसलिए जैसा मैंने कहा कि हम उसे असमंजस में नहीं डालना चाहते हैं और वह जानता है कि अगर कोई बल्लेबाज नहीं चलता है और या चोटिल हो जाता है तो वह उसका स्थान लेने के लिए तैयार है। इंग्लैंड के खिलाफ 2011 में पदार्पण करने वाले रहाणे ने अब तक 84 वन-डे में 2822 रन बनाए और उनका सर्वोच्च स्कोर 111 रन है।

केएल राहुल के टीम का हिस्सा नहीं होने के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘इस श्रृंखला में केएल की जगह दिनेश आया है। केएल अधिकतर पारी का आगाज करता है और हम नहीं चाहते कि जिस तरह से रहाणे को मजबूरी में मध्यक्रम में खेलना पड़ा वैसा उसके साथ भी हो।’’ कोहली ने कहा कि टीम को अच्छा संतुलन बनाये रखने की जरूरत है। उन्होंने इसके साथ ही स्वीकार किया कि कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी इतना अच्छा प्रदर्शन कर रही है कि वह इन दोनों को साथ में खिलाने का लोभ नहीं छोड़ पाये।
उन्होंने कहा, ‘‘हमें विश्व कप से पहले अपना सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी संयोजन ढूंढना होगा। ईमानदारी से कहूं तो हम इन दोनों को साथ में खिलाने की नहीं सोच रहे थे लेकिन वे बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और इसलिए हर मैच में खेल रहे हैं। ’’ कोहली ने कहा, ‘‘रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा पिछले छह सात साल से लगातार सीमित ओवरों की क्रिकेट खेल रहे हैं। इन युवाओं ने अच्छा प्रदर्शन किया और इससे विश्व कप से पहले हमारे पास गेंदबाजों की अच्छी खेप तैयार हो गयी है। (भाषा)



और भी पढ़ें :