भुवनेश्वर कुमार और शमी ने अंग्रेज गेंदबाजों के छक्के छुड़ाए

भारत पहली पारी 457 रन, इंग्लैंड पहली पारी 1 विकेट खोकर 43 रन

FILE

यूं तो दिन के हीरो मुरली विजय और धोनी को माना जा रहा था लेकिन बाद में भारत के जिन दो टैलेंडरों ने अंग्रेज गेंदबाजों की नाक में दम किया, उसे वे कभी नहीं भूल पाएंगे। भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी ने इंग्लिश गेंदबाजों के छक्के छुड़ाकर रख दिए।

चायकाल के बाद भारतीय पारी 457 रनों पर समाप्त हुई। भारत का 10वां विकेट भुवनेश्वर कुमार के रूप में आउट हुआ। उन्हें मोईन अली की गेंद पर जो रूट ने लपका। भुवनेश्वर ने 149 गेंदों में 5 चौकों की सहायता से 58 रन बनाए। मोहम्मद शमी 81 गेंदों में 6 चौकों व 1 छक्के के साथ 51 रन पर नाबाद रहे। इन दोनों के बीच नौंवे विकेट के लिए 111 रनों की भागीदारी निभाई गई।
सनद रहे कि भारत का आठवां विकेट 346 रनों पर गिरा था।

ट्रेंटब्रिज का इतिहास रोचक है। यहां पर 32 पहले बल्लेबाजी करके जिन टीमों ने +400 का स्कोर बनाया है, उसमें 16 बार टीम मैच जीती है, 15 बार मैच ड्रॉ रहा है जबकि सिर्फ एक मैच में टीम हारी है। इस मान से पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन ही भारत का पलड़ा भारी नजर आ रहा है।

महेंद्र सिंह धोनी आज जब 82 रनों के निजी स्कोर पर थे, तब एक रन लेने के प्रयास में वे एंडरसन के सटीक थ्रो का शिकार बने। धोनी को उम्मीद नहीं थी कि थ्रो सीधे विकेट पर ही लगेगा। जब बेल्स उड़ी तब धोनी का बल्ला क्रीज से कुछ इंच की दूरी पर रह गया।

भारत ने पांचवां विकेट 304 रन पर शतकवीर (मुरली विजय) पैवेलियन लौटा था, जबकि 25 रन बनाने वाले रवींद्र जडेजा 344 रन के कुल स्कोर पर आउट हुए।

धोनी के आउट होने के वक्त स्कोर 345 रन था। इसी स्कोर पर 1 रन बनाने वाले स्टुअर्ट बिन्नी भी कैच आउट हो गए। टीम का स्कोर 346 तक पहुंचा ही था कि ईशांत शर्मा भी पैवेलियन कूच कर गए। इस तरह भारत ने 4 विकेट 344 से 346 रनों के बीच खोए।

FILE


इससे पहले सुबह भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे ट्रेंट ब्रिज टेस्ट के दूसरे दिन के खेल की शुरुआत में कल के शतकवीर बल्लेबाज मुरली विजय और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय पारी को आगे बढ़ाया।

हालांकि आज खेल की शुरुआत में ही इंग्लैंड के विकेट कीपर मैट प्रयार ने भारतीय कप्तान धोनी का आसान कैच टपका दिया, लेकिन इसके बाद दोनों बल्लेबजों ने पांचवें विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी पूरी की।

जब मुरली विजय 146 रनों पर खेल रहे थे, तब जेम्स एंडरसन ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। मुरली ने 361 गेंदों का सामना करने के बाद 25 चौकों और एक छक्के की मदद से 146 रन बनाए। मुरली और धोनी के बीच पांचवें विकेट के लिए 126 रनों की साझेदारी हुई।

कल खेल समाप्त होने तक भारत ने 259/4 का स्कोर बनाया था, जिसमें विजय (122) और धोनी (50) नाबाद थे। टेस्ट के पहले दिन मुरली विजय ने मौके की नजाकत के अनुरूप बल्लेबाजी की और अपना चौथा तथा विदेशी सरजमीं पर पहला शतक लगाया।

नार्टिंघम | WD|
हमें फॉलो करें
भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे ट्रेंटब्रिज टेस्ट के दूसरे दिन काफी उतार चढ़ाव देखने को मिले। दिन में भारत के चार बल्लेबाज आकर्षण का केंद्र रहे। सलामी बल्लेबाज मुरली विजय के शानदार 146 रन के अलावा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की 82 रनों की पारी रही। इसके बाद दसवें विकेट के लिए भुवनेश्वर कुमार (58) और मोहम्मद शमी (नाबाद 51) ने रिकॉर्ड 111 रन की भागीदारी निभाई जिससे भारत पहली पारी में 457 रन बनाने में सफल रहा। जवाब में इंग्लैंड ने दिन का खेल खत्म होने तक 17 ओवर में 1 विकेट खोकर 43 रन बना लिए थे। गैरी बैलेंस 15 और सेम रॉबसन 20 रन पर नाबाद हैं।भारतीय बल्लेबाजों के सामने अंग्रेज टीम इतनी घबरा गई कि उसकी सलामी जोड़ी जल्दी ही टूट गई। कप्तान एलिस्टेयर (5) के डंडे मोहम्मद शमी ने बिखेर दिए। तब इंग्लैंड का स्कोर केवल 9 रन ही था।
कल के खेल में भारत ने चार विकेट गंवाए थे। चेतेश्वर पुजारा (38) और विराट कोहली (1) दूसरे सत्र के शुरू में आउट हो गए जबकि अंजिक्य रहाणे (32) चाय के विश्राम के बाद पहले ओवर में पैवेलियन लौटे। (वेबदुनिया न्यूज)




और भी पढ़ें :