आईपीएल 2019 : धोनी के बिना अधूरे हैं विराट कोहली जानिए क्यों...

के इस महाकुभ में जहां सभी टीमें जीत के विजय रथ के साथ आईपीएल ट्रॉफी को हासिल करने के लिए आगे बढ़ रही हैं, वहीं एक ऐसी भी टीम है जो अभी तक अपना खाता भी नहीं खोल पाई है। यह टीम अपनी लगातार हो रही हार के चलते चर्चा का विषय बनती जा रही है।
आईपीएल का 12वां संस्करण रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और उसकी कप्तानी संभाल रहे विराट कोहली दोनों के लिए ही मनहूसियत भरा जा रहा है। यह टीम अभी तक आईपीएल का एक भी मैच नहीं जीत सकी है। जिसके कारण कप्तान और टीम दोनों ही आलोचनाओं का शिकार हो रहे हैं।

आरसीबी अभी तक खेले गए सभी 6 मैचों में अपनी एक भी जीत दर्ज नहीं कर पाई है। आप को बता दें कि आईपीएल 12 में आरसीबी ऐसी पहली टीम बन गई है जो लगातार छह मुकाबले हारी है, इसके पहले 2013 में डेयरडेविल्स लगतार छह मैच हारी थी। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर अभी तक अपने रॉयल होने का प्रमाण नहीं दे पाई है।

विराट कोहली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की कप्तानी पिछले आठ सालों से कर रहे हैं और अभी तक टीम को एक भी बार आईपीएल ट्रॉफी नहीं दिला सके हैं। इस पर क्रिकेटप्रेमियों का कहना है कि जो कप्तान अपनी क्लब टीम को खिताब नहीं दिला पाया, वो भारतीय टीम को विश्वकप कैसे दिलवा पाएगा।

गौतम गंभीर : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज का कहना है कि विराट कोहली दिमाग से कप्तानी नहीं कर पाते हैं, उन्हें किस्मतवाला कहना सही होगा। अगर आंकड़ों की बात किया जाए तो लीग मैचों में कप्तान के तौर पर सबसे खराब प्रदर्शन विराट कोहली का रहा है। उनकी अगुआई में टीम की जीत का प्रतिशत 46.50 रहा है।

आईपीएल के 12वें संस्करण के लिए आरसीबी फ्रेंचाइजी ने अपनी 24 सदस्यीय टीम बनाने के लिए 80.2 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। 2019 की नीलामी से पहले 14 खिलाड़ियों को रिटेन किया गया था। इसके बावजूद भी टीम के प्रदर्शन में कोई सुधार नहीं हुआ।

आईपीएल 2019 के 12वें संस्करण में आरसीबी के लचर प्रदर्शन को देखकर क्रिकेट जगत के जानेमाने खिलाड़ी और जानकार कहते हैं कि विराट कोहली को अभी महेंद्र सिंह धोनी से काफी कुछ सीखने की आवश्यकता है। जब विराट और धोनी एक टीम से खेलते हैं तो कई बार ऐसे मौके आते हैं, जब विराट धोनी से सलाह लेते हैं। ऐसा कहा जा सकता है कि धोनी के बिना अधूरे हैं विराट कोहली।

 

और भी पढ़ें :