रॉयल्स को खलेगी स्मिथ और वॉर्नर की कमी, सनराइजर्स से होगी टक्कर

हैदराबाद| पुनः संशोधित रविवार, 8 अप्रैल 2018 (14:51 IST)
हैदराबाद। आईपीएल मैच में कल यहां भिड़ने जा रहे और को अपने अपने कप्तानों क्रमश: डेविड वॉर्नर एवं की कमी से उबरना होगा। टूर्नामेंट में दो साल के निलंबन के बाद वापसी कर रहे राजस्थान रॉयल्स, और सनराइजर्स दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ करने को लेकर द्वारा प्रतिबंधित किए गए अपने महत्वपूर्ण खिलाड़ियों की कमी का सामना कर रहे हैं, जहां स्मिथ की अनुपस्थिति में अजिंक्य रहाणे राजस्थान का नेतृत्व करेंगे वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन हैदराबाद की कमान संभालेंगे।
हालांकि ज्यादातर टीमों में वार्नर और स्मिथ की जगह कोई नहीं ले सकता, दोनों ही टीमें अब भी कागज पर काफी संतुलित दिख रही हैं। जहां सनराइजर्स नीलामी में अपने अधिकतर खिलाड़ियों को बनाए रखने में सफल रहा था, वहीं पारंपरिक रूप से नीलामी में कम खर्च करने वाली टीम रॉयल्स ने बेन स्टोक्स (12.5 करोड़ रुपए) और जयदेव उनादकट (11.5 करोड़ रुपये) जैसे खिलाड़ियों पर काफी पैसे खर्च किए और वे इस सीजन की सबसे महंगे खिलाड़ी साबित हुए।

रॉयल्स ने ससेक्स के हरफनमौला खिलाड़ी जोफ्रा आर्चर (7.2 करोड़ रुपए) और कर्नाटक के के.गौतम (6.2 करोड़ रुपए) जैसे नए खिलाड़ियों पर भी काफी पैसे खर्च किए। टीम में बिग बैश लीग (बीबीएल) स्टार डार्सी शॉर्ट और दक्षिण अफ्रीका के हेनरिक क्लासेन शामिल हैं जिन्हें स्मिथ की जगह टीम में शामिल किया गया है। टीम प्रबंधन ने इस बार काफी पैसे खर्च किए हैं और वह अपने निवेश से मैदान में अच्छे नतीजे मिलने की उम्मीद कर रहा होगा।

शेन वॉर्न मुख्य कोच के रूप में वापस आ गए हैं और रॉयल्स ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के मार्गदर्शन में 2008 के बाद एक बार फिर अपने लिए गौरव अर्जित करने की उम्मीद कर रहा होगा। 2008 में हुए पहले आईपीएल में राजस्थान की टीम विजेता बनकर उभरी थी, वहीं 2016 में आईपीएल जीतने वाली हैदराबाद की टीम में वॉर्नर की अनुपस्थिति से शीर्ष बल्लेबाजी क्रम में एक बड़ी रिक्तता आ गई है। हालांकि एलेक्स हेल्स शिखर धवन के साथ पारी की अच्छी शुरूआत करने में सक्षम हैं।

सनराइजर्स में मध्यक्रम को मजबूती देने के लिए मनीष पांडे और यूसुफ पठान को लिया गया है जबकि वह सबसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमण वाली टीमों में भी शामिल है। भुवनेश्वर कुमार और संदीप शर्मा तेज गेंदबाजी विभाग में दमखम दिखाएंगे जबकि अफगान लेग स्पिनर राशिद खान और बांग्लादेशी खिलाड़ी शाकिब अल हसन स्पिन विभाग में उनकी मदद करेंगे।

सनराइजर्स के मुख्य कोच टॉम मूडी ने हाल में कहा था कि कप्तानी में एकाएक किए गए बदलाव का टीम पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है। हालांकि विलियम्सन कप्तानी के लिहाज से नए नहीं हैं, उनसे कप्तानी की भूमिका में तेजी से अच्छे नतीजे देने की उम्मीद की जाएगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :