जादू-टोना, तंत्र मंत्र की ओर आकर्षित हो रहे हैं युवा

पुनः संशोधित बुधवार, 15 अप्रैल 2015 (14:38 IST)
ट्वाइलाइट में 'सुंदर युवा प्रेतनियों' और ट्रयू ब्लड से प्रोत्साहित होकर युवा जादू-टोना, और भूत-प्रेतों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। वेटिकन को भी इस बात की चेतावनी दे दी गई है।
 
VAMPIRE
फिल्मों और टीवी सीरियल्स के चलते युवकों की रुचि रहस्यमय ताकतों में बढ़ रही है। एक ओझा का कहना है कि युवा 'ब्यूटीफुल वैम्पायर्स' जैसी रचनाओं और अत्यधिक सफल 'ट्रू ब्ल्ड' सिरीज और ट्‍वाइलाइट से बहुत प्रभावित हैं। 
 
मेल ऑनलाइन के लिए कोरी चार्लटन लिखती हैं कि ट्रू ब्लड और ट्वाइलाइट फिल्म सिरीज की लोकप्रियता नई पीढ़ी को ऐसी प्रवृत्ति की ओर आगे बढ़ा रही है जिसे चर्च शैतानी मानता है। इस आशय की जानकारी प्रोफेसर जिसूपी फेरारी ने दी जो ‍कि इतालवी अकल्ट वाचडॉग द ग्रुप ऑन रिसर्च एंड सोशियो-रिलीजियस इन्फॉरमेशन से जुड़े हैं।
 
वे रोम में वेटिकन की सहायता से चलने वाले जादू-टोना, झाड़-फूंक के कोर्स के शुरू होने पर बोल रहे थे। एक समाचार पत्र का कहना है कि उन्होंने छात्रों से कहा कि ये वे लोग हैं जो कि लोगों को प्रेत बनाने की कोशिश करते हैं और लोगों को दूसरों का खून पीने के लिए प्रेरित करते हैं। या फिर विशेष शक्तियां पाने के लिए वे विशेष यौन संबंधों को बनाने को उकसाते हैं।
 
शैतान और उसके राक्षसों से प्रभावित लोगों के शरीरों से आत्माओं को मुक्त कराने का काम कैथोलिक चर्च में सदियों से किया जा रहा है। एक मनोचिकित्सक और इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एक्सॉर्स्टी के प्रवक्ता डॉ. वाल्टर कैसिओली ने कहा कि यह और भी चिंता की बात है कि जो लोग इस तरह के कामों में लगे हैं, उनकी संख्या बढ़ रही है और इन कामों से मनोवैज्ञानिक, आध्यात्मिक और नैतिक रूप से नुकसान पहुंचा रहे हैं।



और भी पढ़ें :