अर्जेंटीना में मिले अंधेरे में चमकने वाले मेंढक

Last Updated: बुधवार, 15 मार्च 2017 (16:10 IST)
हमें फॉलो करें
ब्यूनेस आइर्स। अर्जेंटीना के वैज्ञानिकों ने अंधेरे में चमकने वाले मेंढकों की एक नई प्रजाति को खोज निकाला है। इन मेंढकों को दक्षिणी अमेरिका के अर्जेंटीना में खोजा गया है। इसके ऊपर हरे, पीले और लाल रंग की छीटें हैं। 
सामान्य रोशनी में ये रंग पोल्का डॉट्स की तरह ही नजर आते हैं, लेकिन अंधेरे में ये गहरे नीले और हरे रंग की रोशनी में चमकते हैं। जब शोधकर्ताओं ने पराबैंगनी किरणों से युक्त एक फ्लैशलाइट से इस मेंढक पर रोशनी फेंकी, तो लाल की जगह उनके अंदर से गहरे हरे और नीले रंग का प्रकाश परावर्तित होने लगा। 
 
ये मेंढक ज्यादातर समय पर पेड़ों पर रहते हैं। शॉर्ट तरंगदैर्ध्य पर प्रकाश को अवशोषित करने और लंबे तरंगदैर्ध्य पर उसे परावर्तित करने की यह प्रक्रिया पदार्थों में तो आम है, लेकिन जीवों के अंदर यह बहुत दुर्लभ मानी जाती है। उभयचर जीवों के अंदर अभी तक यह गुण नहीं पाया गया था। 
शोधकर्ताओं ने पाया कि दक्षिणी अमेरिका के ये पोल्का निशान वाले मेंढक बाकी किसी भी जानवर की तुलना में बिल्कुल अलग तरीके से परावर्तन प्रक्रिया का इस्तेमाल करते हैं। समुद्र में पाए जाने वाले कई जलीय जीवों में यह गुण पाया जाता है। कोरल्स, मछलियां, शार्क और यहां तक कि कछुए की एक प्रजाति में भी यह गुण पाया जाता है। 
 
लेकिन अगर जमीन पर रहने वाले स्थलीय जीवों की बात करें तो अभी तक एक तोते की प्रजाति और कुछ मकड़ियों में यह परावर्तन का गुण पाया जाता है। यह पहला अवसर है जबकि पेड़ों पर रहने वाले मेंढ़कों में भी इस गुण का पता चला है। (एजेंसी)
 



और भी पढ़ें :