फ्रांस में आतंकी हमला, संदिग्ध गिरफ्तार

पेरिस| Last Updated: गुरुवार, 8 जनवरी 2015 (10:34 IST)
पेरिस। पेरिस में व्यंग्य आधारित साप्ताहिक पत्रिका शार्ली एब्दे

के

पत्रकारों पर हुए जानलेवा हमले में अपने दो भाइयों के साथ अपना नाम आने पर 18 वर्षीय एक युवक ने पुलिस के समक्ष समर्पण कर दिया है।

सूत्र ने बताया, 'सोशल मीडिया पर अपना नाम प्रसारित होने के बाद हमीद मुराद ने बुधवार रात 11 बजे खुद को पुलिस के हवाले कर दिया।'

अन्य सू़त्र ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया, 'उसे गिरफ्तार कर लिया गया है और हिरासत में ले लिया गया है।'

इससे पहले सोशल मीडिया में आई खबरों के अनुसार दो अधिकारियों ने इन संदिग्धों के नाम फ्रैंचमैन सैड कोउआची और शेरिफ कोउआची बताएं। ये दोनों भाई हैं और उम्र के तीसरे दशक के शुरुआती वर्षों में हैं। तीसरे संदिग्ध हमीद मुराद की उम्र 18 वर्ष है।
एक अधिकारी ने कहा कि ये लोग यमन के आतंकी नेटवर्क से जुड़े हैं।


मुस्लिम नेताओं ने ‘बर्बर’ हमले की निंदा : के मुस्लिम नेतृत्व ने एक व्यंग्यात्मक साप्ताहिक अखबार के दफ्तर में हुई गोलीबारी की सख्त निंदा करते हुए इसे बर्बर हमला करार दिया और इसे प्रेस की स्वतंत्रता एवं लोकतंत्र पर हमला बताया।

फ्रेंच मुस्लिम काउंसिल ने एक बयान में कहा कि यह अत्यंत संगीन बर्बर हरकत लोकतंत्र और प्रेस की स्वतंत्रता पर भी हमला है। यह संगठन फ्रांस के मुस्लिम समुदाय का प्रतिनिधित्व करता है, जो यूरोप में सबसे बड़ा है और उनकी संख्या 35 लाख से 50 लाख के बीच है।



और भी पढ़ें :