मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. घरेलू नुस्खे
  4. Advantages and disadvantages of eating brown rice
Written By
पुनः संशोधित शनिवार, 3 दिसंबर 2022 (18:23 IST)

ब्राउन राइस खाने के फायदे और नुकसान

आपने सफेद चावल तो खूब खाएं होंगे लेकिन ब्राउन राइस यानी भूरे रंग का चावल कम ही खाया होगा। ब्राउन राइस के खाने के फायदे कई हैं लेकिन उसे खाने के नुकसान कम है। चावल का बिना रिफाइंड किया हुआ प्राकृतिक रूप ब्राउन राइस कहलाता है। आओ जानते हैं कि इस राइस को खाने के क्या हैं फायदे और नुकसान।
 
ब्राउन राइस खाने के फायदे | Benefits of eating brown rice:
 
1. हार्ट अटैक : यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अनचाहा फैट नहीं बढ़ने देता है। इसीलिए यह हार्ट अटैक की संभावना को भी कम करता है।
 
2. डायबिटीज : सफेद चावल में शर्करा की मात्रा अधिक होती है, जिससे शुगर होने की संभावना रहती है जबकि ब्राउन राइस को खाने से डाइबिटीज कंट्रोल में रहती है।
 
3. हड्ड‍ियां- इसमें भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम और कैल्श‍ियम होता है जो हड्ड‍ियों को मजबूत करने के लिए बेहद फायदेमंद है।
 
4. वजन कम- यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो सफेद चालव की जगह इसका उपयोग करें। 
 
5. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है : इसमें मौजूद विटामिन ई हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है।
 
6. पाचन के लिए उत्तम : यह चावल पचने में आसान और आंतों के लिए उत्तम है। इसमें मौजूद ब्रान लेयर और फाइबर के कारण आंतों की कार्यप्रणाली बेहतर होती है।
 
7. डिप्रेशन : इस चावल में एंटी-डिप्रेशन गुण होते हैं, जो तनाव और दिमाग से संबंधित समस्याओं से लड़ने में मदद करते हैं।
ब्राउन राइस खाने के नुकसान | disadvantages of eating brown rice:
 
1. ब्राउन राइस में आर्सेनिक की मात्रा अधिक पाई जाती है जिसके कारण जी मिचलाना, उल्टी, सिरदर्द और डायरिया हो सकता है।
 
2. इसके अधिक सेवन से स्किन प्रॉबलम, मूत्राशय में समस्या और लंग कैंसर हो सकता है।
ये भी पढ़ें
युवाओं को क्यों हो रहे हैं हार्ट अटैक, क्या हैं 3 बड़े कारण