हम-तुम खेलें फाग

फागुनी दोहे

-माणिक वर्मा
पहले भीगे रंग में, फिर चूना लगवाए।


सम्बंधित जानकारी


और भी पढ़ें :