जानिए हिन्दी सेवी विदेशी विद्वान


प्रोफेसर च्यांग चिंगख्वेइ (चीन)

प्रफेसर च्यांग चिंगख्वेइ ने चीन में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है। वह लगभग 25 बरसों से पेइचिंग यूनिवर्सिटी के हिन्दी विभाग से जुड़े हैं। वह आजकल पेइचिंग यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर इंडियन स्टडीज के अध्यक्ष हैं। हिन्दी के महाकवि जयशंकर प्रसाद की कविता 'आंसू' के मर्मज्ञ प्रोफेसर च्यांग हिन्दी में कहानियां भी लिखते हैं।

वह कहते हैं,'चीन में भारत और हिन्दी को लेकर हमेशा से जिज्ञासा का भाव रहा है। उनका मानना है कि भारत-चीन के बीच बनते-बिगड़ते रिश्तों के चलते चीन में हिन्दी का सही तरीके से प्रसार नहीं हो पाया। उन्हें 2007 में न्यूयॉर्क में आयोजित आठवें विश्व हिन्दी सम्मेलन में हिन्दी सेवा के लिए सम्मानित किया गया।

अगले पेज पर : अकियो हागा (जापान)




और भी पढ़ें :