Corona Time में डॉक्टर क्यों दे रहे हैं ग्लूकोज डाइट कम करने और प्रोटीन डाइट बढ़ाने की सलाह


कोरोना काल में लोगों द्वारा अच्छी डाइट फॉलो की जा रही है। ताकि इस महामारी की चपेट में आने से बच सकें। कई लोगों ने अपनी लाइफस्टाइल में कई तरह के बदलाव किए है। शायद आने वाले वक्त में यह आगे भी जारी रहेगा। के संक्रमण दर में जरूर गिरावट दर्ज की जा रही है लेकिन सावधानी अभी भी बरतना जरूरी है। साथ ही कोरोना मरीजों को डॉ द्वारा ग्लूकोज की मात्रा कम करने और प्रोटीन डाइट बढ़ाने की सलाह दे रहे हैं आइए जानते हैं ऐसा क्यों?

कोविड मरीजों को कोरोना के ट्रीटमेंट में जल्दी रिकवरी और संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्टेरॉयड दिया जा रहा है। इस दवा से मरीज ठीक हो रहे हैं लेकिन एक नई बीमारी होने लगी है। जिसे म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगल इंफेक्शन कहा जा रहा है। जो नाक से शुरू होता
है इसके बाद मुंह में होता है और फिर दिमाग तक पहुंच जाता है।

बता दें कि स्टेरॉयड की अधिकतम 3 दिन की खुराक दी जाती है। इसके बाद डॉक्टर अपने अनुसार उसकी मात्रा कम करते हैं। डॉ के साथ ही डायबिटीज मरीज को अपनी शुगर चेक करते रहना जरूरी है। कहीं कम और ज्यादा नहीं हो जाएं।

प्रोटीन डाइट बढ़ाना क्यों जरूरी है-

प्रोटीन की कमी से आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। जब प्रोटीन की कमी होने लगती है तो खून की कमी बढ़ जाती है। कोरोना काल में इसलिए प्रोटिन की मात्रा बढ़ाने की सालह दी जा रही है। इसकी कमी से जोड़ों में दर्द की समस्या भी बढ़ जाती है, जिससे मांसपेशियां अकड़ने लगती है। वहीं बच्चों में प्रोटीन की कमी होने पर विकास बहुत कम होता है।

प्रोटीन में क्या खा सकते हैं?
किशमिश, अमरूद, खूजर, आलूबुखारा, अरहर, उड़द मूंग, छोले, चने की दालों का सेवन करना चाहिए। हर दिन भोजन में अलग - अलग दाल का उपयोग करना चाहिए।





और भी पढ़ें :