बरसात में मलेरिया से बचाएंगे यह 5 हेल्दी आहार

malaria

बरसात में मलेरिया तेजी से फैलता है, इस मौसम में मच्छर( मादा एनोफिलीज) तेजी से पनपते हैं और उन्हीं के काटने से यह फैलता है। पर हम इस बीमारी के दुष्प्रभावों से हेल्दी आहारों के माध्यम से बच सकते हैं। आइए जानते हैं -

इन्हें इम्युनिटी बूस्टर भी कहा जाता है। इनमें विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है जिसके कारण शरीर को बुखार और संक्रमण से रोकने के साथ-साथ तेजी से ठीक करने में भी सहायता करते हैं।

इसे मलेरिया का एक बेहतर घरेलु उपचार माना जाता है। यह एंटी माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुणों से भरपूर होता है। यह बीमारी को जल्दी ठीक करने में सहायता करता है। बरसात के दिनों में इसका काढ़ा या चाय जरूर पीना चाहिए।
3 मेथी दाना -
मलेरिया में बुखार के कारण शरीर कमजोर हो जाता है। इस कमजोरी से राहत के लिए मेथी दाना लाभदायक है। यह मलेरिया के बैक्टेरिया को मारने और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है। इसे रातभर भिगोकर रखें और सुबह खाली पेट इसका पानी पीना चाहिए।

4 दाल चीनी -
यह खड़े मसालों में गिनी जाती है, दालचीनी में एंटी माइक्रोबियल,एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो मलेरिया के असर को कम करते हैं। इसे गर्म पानी में काली मिर्च और शहद के साथ मिलाकर दिन में 2 बार पीना चाहिए।
5 हल्दी -
हल्दी स्वास्थ के लिए एक सर्वश्रेष्ठ औषधि है। रोग प्रतिरोधक क्षमता और एंटी ऑक्सीडेंट गुण के कारण इसे मलेरिया से निपटने के लिए उचित माना गया है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिसके कारण मलेरिया के बैक्टेरिया से लड़ने में सहायता मिलती है और इसके एंटी इंफ्लेमेटरी गुण के कारण जोड़ों का दर्द भी ठीक होता है।



और भी पढ़ें :