इंटरमिटेंट फास्टिंग : वजन कम करने का कारगर तरीका, आप भी जानिए

intermittent fasting for weight loss

व फास्टिंग के बारे में तो सभी जानते हैं लेकिन क्या आपने कभी के बारे में सुना है? यह है वजन कम करने का कारगर तरीका, इंटरमिटेंट फास्टिंग से आपको सेहत के कई फायदे तो मिलेंगे ही साथ ही वजन कम करने में भी बड़ी मदद मिलेगी, सो अलग।

आइए, जानते हैं आखिर इंटरमिटेंट फास्टिंग क्या है?


यह एक ऐसा डाइट प्लान है जिसमें लंबे समय तक भूखे रहकर मील स्किप करना होता है। साथ ही किस समय भोजन करना है और किस समय नहीं, ये पहले से तय होता है। कुछ लोग 12 घंटे के अंदर ही अपने मील्स ले लेते हैं तो कुछ 14 से 18 घंटे तक कुछ नहीं खाते है। इस फास्टिंग में जब भी भोजन किया जाता है, तब कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा कम और प्रोटीन व फाइबर की मात्रा अधिक लेने पर फोकस किया जाता है जिससे कि शरीर का वजन भी कम होने में मदद मिलती है।

इंटरमिटेंट फास्टिंग के कई प्रकार होते है। आइए, जानते हैं उन्हीं के बारे में -


1. 16 घंटे खाने से परहेज -

इस तरीके को अपनाते हुए 16 घंटे खाने से परहेज करना होता है। जैसे कि यदि आपने रात को भोजन किया है तो अगले दिन 16 घंटे पूरे होने पर ही आप लंच करेंगे, मतलब आपको ब्रेकफास्ट छोड़ना होगा। साथ ही लंच और डिनर के बीच का समय निर्धारित होता है जो 8 घंटे का है। यानी कि लंच के बाद अगला भोजन (डिनर) आपको 8 घंटे के भीतर ही करना होगा।


2. हफ्ते में 2 दिन पेटभर खाने से परहेज -

इस तरीके को अपनाते हुए आपको 5 दिन सामान्य डाइट लेनी है, लेकिन हफ्ते के किसी भी 2 दिन इतना ही भोजन करना है जिससे कि शरीर को 500 से 600 के बीच कैलोरी प्राप्त हो, उससे अधिक नहीं। इसमें ये ध्यान रखना है कि खाने
में
परहेज के 2 दिनों के बीच में एक सामान्य ईटिंग डे जरूर होना चाहिए।


3. 20 घंटे खाने से परहेज -

इस तरीके में आपको 20 घंटे का फास्ट रखना होता है, जिसके दौरान फल और लीन प्रोटीन खा सकते हैं। इसके बाद 4 घंटे का समय निर्धारित करना होता है जिसमें आप खा सकते है और उसमें भी सब्जियां, प्रोटीन और फैट ही
अधिक लेना है, वहीं कार्बोहाइड्रेट्स केवल तभी लिया जाता है जब तुरंत तेज भूख लगी हुई हो।

4. 24 घंटे खाने से परहेज -

इस तरीके में आपको हफ्ते में 1-2 बार 24 घंटे खाने से परहेज करना होता है। बाकी दिनों में सामान्य डाइट रखनी होती है।

5. वन मील इन द डे -

इस इंटरमिटेंट फास्टिंग में आपको पूरे दिन में एक ही बार भोजन करना होता है और दूसरा मील छोड़ना होता है।

कैसे शुरू करें इंटरमिटेंट फास्टिंग ?

अपनी लाइफस्टाइल व दिनचर्या के हिसाब से
इंटरमिटेंट
फास्टिंग का जो भी तरीका आपको जमता हो, आप उसे आपना सकते है।

 

और भी पढ़ें :