बिच्छू के डंक का प्राथमिक उपचार आपको पता होना चाहिए


बरसात के मौसम में सांप के साथ-साथ अन्य दूसरे जीव भी बाहर निकल पड़ते हैं। उन्हीं में से एक है बिच्छू। इस जीव के डंक खतरनाक होता है। इससे छोटे बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। वैसे तो बिच्छू की 1500 प्रजातियों में से केवल 25 ही प्राणघातक होती है , पर अन्य से भी सूजन, एलर्जी और अन्य प्रकार की समस्याएं हो सकती है। ऐसे में हमें यह पता होना चाहिए कि यदि हमें लग जाता है तो हमें सबसे पहले क्या करना चाहिए।
आइए जानते हैं -

1 बिच्छू के डंक लगने पर उस स्थान के थोड़े ऊपर एक कपडा बांध दें। उसे ऐसा बांधें जिससे रक्तप्रवाह ना रुके।

2 बिच्छू के डंक लगने पर एलर्जी के लिए एंटीहिस्टामाइन और दर्द के निवारण के लिए एसिटामिनोफेन दे सकते हैं। एस्पिरिन और आइबुफ्रोफेन दवाइयां ना लें, इनसे समस्या के बढ़ने का खतरा रहता है।

3 जहां काटा है उस स्थान पर 10 मिनट बर्फ की सिकाई कर सकते हैं। बर्फ का सीधा संपर्क त्वचा से ना होने दें। एक तौलिए में बर्फ को रख कर ही सिकाई करें।
4 यदि बिच्छू के डंक लगे हुए व्यक्ति के लक्षण बढ़ रहे हैं तो सीधे डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

5 डंक वाली जगह को साबुन और बहते पानी में धो लें और उसे काटी हुई जगह को दिल के स्तर से ऊपर उठा लें।



और भी पढ़ें :