Live : किसान आंदोलन पर प्रियंका बोलीं- लाठी से आंदोलन खत्म करने की कोशिश

Last Updated: गुरुवार, 28 जनवरी 2021 (22:12 IST)
नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा के बाद अब दिल्ली पुलिस एक्शन में नजर आ रही है। देर रात गाजीपुर में बिजली काट दी गई है। रात भर पुलिस की ओर से यहां बड़ी कार्रवाई के कयास लगते रहे। उधर चिल्ला बॉर्डर पर किसानों के हटने के बाद यातायात शुरू हो गया है। मामले से जुड़ी हर जानकारी...

10:10PM, 28th Jan
10:07PM, 28th Jan
गाजीपुर बॉर्डर बंद कर दिया गया है। ट्रैफिक को NH24, NH9, रोड नं 56, 57A, कोंडली, पेपर मार्केट, टेल्को टी पॉइंट, ईडीएम मॉल, अक्षरधाम और निजामुद्दीन खट्टा की तरफ शिफ्ट कर दिया गया। इन सभी जगहों और विकास मार्ग पर ट्रैफिक काफी ज्यादा है। दिल्ली पुलिस ने हिदायत दी है कि वैकल्पिक मार्ग चुनें।
09:31PM, 28th Jan
-किसान नेता राकेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर एक युवक को जड़ा थप्पड़।
-टिकैत ने कहा कि वह युवक हमारे संगठन का सदस्य नहीं था। वह मीडिया के साथ भी बदसलूकी कर रहा था। गलत इरादों के साथ जो भी यहां मौजूद है, उन्हें चले जाना चाहिए। 
09:10PM, 28th Jan
-भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख नरेश टिकैत के आह्वान पर पंचायत बुलाई गई। हजारों की संख्या में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता सिसौली पहुंचे।
09:06PM, 28th Jan
-नरेश टिकैत के प्रदर्शन खत्म करने की घोषणा करने के कुछ ही देर बाद राकेश टिकैत कमा ऐलान, वह धरना जारी रखेंगे। 
08:45PM, 28th Jan
गॉजीपुर बॉर्डर से राकेश टिकैत ने हटने से किया इंकार। उन्होंने कहा- हम जो बात करेंगे, सरकार से करेंगे। यूपी पुलिस प्रशासन से बात नहीं करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा ने बयान जारी कर कहा कि शांतिपूर्ण आंदोलन पर कार्रवाई हो रही है।
08:16PM, 28th Jan
गाजियाबाद प्रशासन ने धारा 133 के तहत प्रदर्शनकारियों को नोटिस दिया है। गाजियाबाद एडीएम ने दिया नोटिस। 
 
दिल्ली के बुराड़ी में 30 किसान हिरासत में लिए गए। लालकिले हिंसा में यूएपीए के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। दो किसान संगठन आंदोलन से हटे। कृषि मंत्री से मुलाकात के बाद आंदोलन वापस लिया बीकेयू (एकता), बीकेयू (लोकशक्ति) ने आंदोलन वापस लिया।
 
भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत कहा कि हम धरना तो समाप्त कर देंगे। धरना स्थल (गाज़ीपुर बॉर्डर) पर पानी, बिजली अन्य सुविधाएं बंद कर दिए गए हैं। अब हम वहां क्या करेंगे? उठ ही जाएंगे।
07:50PM, 28th Jan
हरियाणा सरकार ने सोनीपत, पलवल और झज्जर जिलों में वॉइस कॉल को छोड़कर इंटरनेट सेवाओं, सभी एसएमएस सेवाओं और मोबाइल नेटवर्क पर दी जाने वाली सभी डोंगल सेवाओं को बंद करने की अवधि बढ़ा दी है। इंटरनेट सेवाएं अगले 24 घंटे तक यानी 29 जनवरी शाम 5 बजे तक के लिए बंद रहेंगी।
07:34PM, 28th Jan
गाजीपुर बॉर्डर पर प्रशासन ने धारा 144 लगाई गई।
गाजीपुर बॉर्डर को दोनों तरफ से बंद किया गया है। 
 
06:55PM, 28th Jan
किसान नेता राकेश टिकैत मीडिया से बात करते हुए रो पड़े। उन्होंने कहा कि बिल वापसी नहीं की तो आत्महत्या कर लूंगा। गाजीपुर मंच पर रोए राकेश टिकैत। राकेश टिकैत ने कहा किसानों के साथ अत्याचार हो रहा है। किसानों की मारने की साजिश
 
05:44PM, 28th Jan
गाजीपुर में किसानों के टेंट हटाए जा रहे हैं
राकेश टिकैत ने कहा मैं पुलिस के नोटिस से नहीं डरता
05:22PM, 28th Jan
गाजियाबाद डीएम ने धरनास्थल खाली करने का दिया निर्देश। गाजीपुर बॉर्डर पर भारी पुलिस बल की तैनाती।
05:02PM, 28th Jan
दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन. श्रीवास्तव ने दिल्ली पुलिसकर्मियों को पत्र में लिखा कि 26 जनवरी को किसान आंदोलन के हिंसक हो जाने पर आपने अत्यंत संयम और सूझबूझ का परिचय दिया... मैं आपके संयम और धैर्य के लिए धन्यवाद देता हूं।
04:55PM, 28th Jan
खबरों के अनुसार उत्तरप्रदेश में बड़े एक्शन की तैयारी। किसानों को धरना स्थल खाली कराने के निर्देश। यूपी सरकार ने सभी DM को दिए निर्देश। घर जाने के लिए किसानों को फ्री सुविधा देगी सरकार।
04:11PM, 28th Jan
-गाज़ियाबाद पुलिस ने धरनास्थल के आसपास बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया है।
-इतना ही नहीं सिविल पुलिस के अतिरिक्त बॉर्डर पर RAF और PAC की कई कंपनियां तैनात है, साथ ही दंगा नियंत्रण वाहन, वाटर केनन वाहन और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी अधिक संख्या में लायी गई है, जिसे देखकर यह कहा जा सकता है कि पुलिस के तेवर किसानों के गरम है।
-यूपी में गाज़ीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत की अगुवाई में कृषि कानूनों के किसान आंदोलनरत है।
-गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन हटाने के लिए पुलिस ने कमर कस ली है।
-बीती रात बागपत में दिल्ली-सहारनपुर हाईवे में पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए किसानों का आंदोलन तहस-नहस कर दिया है।
-चिल्ला बॉर्डर और बागपत हाईवे पर किसान आंदोलन खत्म होने के बाद भी राकेश टिकैत के तेवर नरम पड़ते नजर नहीं आ रहे हैं।
-टिकैत ने दो टूक शब्दों में कह दिया है कि लह डरकर आंदोलन समाप्त करने वाले नहीं है।
-सरकार की हरकत और चाल सही नहीं है, वह -किसान आंदोलन खत्म करना चाह रही है।
 
 
04:08PM, 28th Jan
-दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों से गुरुवार को अस्पताल जाकर भेंट की और उनका हालचाल जाना।
-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन हिंसा की घटना ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’ हैं लेकिन इससे तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन खत्म नहीं होगा।
-पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग को लेकर विधानसभा में एक प्रस्ताव रखा। वहीं, सदन में भारी हंगामे के बाद भाजपा विधायकों ने वाकआउट कर दिया।
-उच्चतम न्यायालय ने तीन कृषि कानूनों की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाले केरल के कांग्रेस सांसद टी एन प्रतापन की याचिका पर गुरुवार को केंद्र से जवाब मांगा।
 
12:33PM, 28th Jan
-गृहमंत्री अमित शाह ने लिविल लाइंस में सुशरुता ट्रामा सेंटर में ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में घायल हुए पुलिसकर्मियों से मुलाकात की।
11:43AM, 28th Jan
-दिल्ली पुलिस ने किसान नेताओं के खिलाफ जारी किया लुकआउट नोटिस
-अधिकारियों ने कहा- प्राथमिकियों में नामजद किसान नेताओं को अपना पासपोर्ट सौंपने के लिए कहा जाएगा।
 
11:32AM, 28th Jan
-दिल्ली पुलिस ने 20 किसान नेताओं को नोटिस भेजा, 3 दिन में मांगा जवाब
-दिल्ली पुलिस ने राजपथ पर समारोह समाप्त होने के बाद तय रास्ते से ट्रैक्टर परेड निकालने की अनुमति दी थी, लेकिन हजारों की संख्या में किसान समय से पहले विभिन्न सीमाओं पर लगे अवरोधकों को तोड़ते हुए दिल्ली में प्रवेश कर गए।
-कई जगह पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई और पुलिस को लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोलों का सहारा लेना पड़ा।
11:12AM, 28th Jan
-टिकरी बॉर्डर पर कृषि कानून के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी।
11:12AM, 28th Jan
-भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत गाजीपुर बॉर्डर पर डटे हुए हैं।
-टिकैत का कहना है कि जब लड़ाई छिड़ गई तो राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के नेता वीएम सिंह धरना छोड़कर भाग खड़े हुए हैं।
-सरकार जिस तरह से किसानों के धरने को कुचलने का काम कर रही है, उसी तरह वह गाजीपुर बॉर्डर से किसानों को हटा सकती है।
-बिजली काट दी है, लेकिन हम डरने और हटने वाले नहीं है।
-उन्होंने कहा कि 63 दिन से किसान शांतिपूर्ण ढंग से धरना दे रहा था, अचानक 26 जनवरी को उग्र हो गया, ये कहना गलत है।
10:24AM, 28th Jan
-दिल्ली हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों से मिलेंगे गृहमंत्री अमित शाह।
-गृहमंत्री दोपहर 12 बजे 2 अस्पतालों का करेंगे दौरा। घायल पुलिसकर्मियों से करेंगे मुलाकात।
09:39AM, 28th Jan
-दोपहर 12 बजे किसान नेता करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस।
-लाल किले पर आज भी सुरक्षा के सख्‍त इंतजाम।
-लाल किला मेट्रो स्टेशन में आज भी एंट्री और एक्जिट गेट बंद, जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन में भी प्रवेश नहीं।
08:36AM, 28th Jan
-हरियाणा में दिल्ली-जयपुर हाईवे पर भी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाया। रेवाड़ी-रोहतक हाईवे से भी प्रदर्शनकारियों को हटाया गया।
-पुलिस ने यूपी के बागपत में कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 40 दिनों से चल रहे धरने को बुधवार आधी रात खत्म करवा दिया।

08:21AM, 28th Jan
-बुधवार देर रात गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर अचानक बढ़ा तनाव।
-भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का आरोप, पुलिस ने रात को बॉर्डर पर धरना-प्रदर्शन वाली जगह की बिजली काट दी।
-गृह मंत्रालय की ओर से दिल्ली पुलिस को दिए गए सख्‍त कार्रवाई के आदेश।
-उसके बाद से ऐसा लग रहा था कि रात में गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस कोई बड़ी कार्रवाई कर सकती है। हालांकि ऐसी किसी भी कार्रवाई से अभी तक इनकार किया गया है।
08:19AM, 28th Jan
-दिल्ली हिंसा के संबंध में 50 से ज्यादा किसान नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज
-किसान नेता राकेश टिकैत के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला।
-इस मामले में अब तक 25 से ज्यादा FIR, 19 गिरफ्तार
08:19AM, 28th Jan
-कमजोर हुआ किसान आंदोलन।
-राष्‍ट्रीय किसान मजदूर संगठन के नेता वीएम सिंह और बीकेयू भानु के नेता प्रतापसिंह भानू ने खुद को आंदोलन किया अलग।
-प्रदर्शनकारियों के लौटने के बाद दिल्ली पुलिस ने देर रात चिल्ली बॉर्डर पर शुरू किया यातायात।
-भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के एक आदेश के मुताबिक लाल किला 27 जनवरी से 31 जनवरी तक आगंतुकों के लिए बंद रहेगा।
08:18AM, 28th Jan
-दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर रैली हिंसा को लेकर किसान नेता दर्शन पाल को नोटिस जारी कर सवाल किया कि उनके खिलाफ क्यों नहीं कानूनी कार्रवाई की जाए।
-दर्शन पाल को जारी नोटिस में दिल्ली पुलिस ने कहा कि लाल किले पर हुई हिंसा अत्यधिक निंदनीय और राष्ट्र विरोधी कृत्य थी।
-नोटिस में दिल्ली पुलिस ने कहा कि उन्होंने और अन्य किसान नेताओं ने ट्रैक्टर परेड के दौरान बेहद गैर जिम्मेदाराना तरीके से काम किया।



और भी पढ़ें :