ट्रैक्टर परेड में हंगामे के लिए भाजपा ने अपने पिट्ठू दीप सिद्धू को भेजा था : आप

पुनः संशोधित बुधवार, 27 जनवरी 2021 (19:42 IST)
चंडीगढ़। लालकिले की घटना पर आम आदमी पार्टी के नेता पंजाब सह-प्रभारी राघव चड्ढ़ा ने कहा कि कल पूरे देश ने देखा कि कैसे भाजपा और मोदी सरकार ने दीप सिद्धू के माध्यम से पिछले 60 दिनों से तपस्या कर रहे किसानों के शांतिपूर्ण अभियान को खत्म करने और किसानों को बदनाम करने की कोशिश की। चड्ढा ने कहा कि दीप सिद्धू ने ऐसी हरकत पहली बार नहीं की है। वे आंदोलन के शुरू होने के दिन से ही मोदी-शाह के साथ मिलकर किसानों के बीच फूट पैदा करने और आंदोलन को खत्म करने के काम में दिन-रात लगे हुए थे।
सनी देओल के साथ दीप सिद्धू का संबंध किसी से छुपा नहीं है। उन्होंने कहा कि दीप सिद्धू की इतना औकात नहीं थी कि वह कल की घटना को अंजाम दे पाता, उसने मोदी-शाह और केन्द्रीय एजेंसियों के सहयोग से इस शर्मनाक घटना को अंजाम दिया। कल पूरे पंजाब को पता चल गया कि दीप सिद्धू, सनी देओल, भाजपा और अकाली दल सब के सब आपस में मिले हुए हैं और सबका मुख्य काम किसान आंदोलन को कमजोर करना था।

दीप सिद्धू का देओल परिवार के साथ वर्षों पुराना रिश्ता है। सनी देओल, प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी और गृहमंत्री के साथ सिद्धू की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हैं। उन तस्वीरों को देखकर साबित हो जाता है कि दीप सिद्धू को किसान आंदोलन में शामिल करना और लाल किले की घटना को अंजाम देना बीजेपी की साजिश थी। दीप सिद्धू बीजेपी के स्लीपर सेल का सदस्य है।

कांग्रेस द्वारा लाल किले पर मौजूद एक शख्स को आम आदमी पार्टी का सदस्य बताने पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने मीडिया को कहा कि कैप्टन और कांग्रेस पार्टी अपने घटिया राजनीतिक एजेंडे के तहत एक गुमनाम शख्स अमरीक सिंह जो कल लाल किले पर मौजूद था उसे आम आदमी पार्टी का का सदस्य बताकर न सिर्फ लोगों को गुमराह कर रहे हैं बल्कि दीप सिद्धू और उसके जैसे लोगों को बचा रहे हैं।

हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि इस शख्स से और ऐसी गतिविधियों में शामिल कोई भी शख्स से आम आदमी पार्टी का दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। हम ऐसे सभी कार्यों का जिससे किसान आंदोलन की छवि को नुकसान पहुंचता हो, भर्त्‍सना करते हैं, कड़ी निंदा करते हैं।

उन्होंने कहा कि जिस अमरीक सिंह मिक्की को कांग्रेस आम आदमी पार्टी का बता रही है, वह वास्तव में भाजपा और अकाली दल का बहुत पुराना और खास व्यक्ति है। उन्होंने कहा कि अमरीक मिक्की की भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं और अकाली दल के बड़े नेताओं के साथ तस्वीरों से यह स्पष्ट हो जाता है कि उसका पुराना और गहरा संबंध भाजपा-अकाली दल के साथ है।

उन्होंने कहा कि अमरीक मिक्की 2019 के लोकसभा चुनाव में गुरदासपुर से भाजपा-अकाली गठबंधन के उम्मीदवार सनी देओल के प्रचार में भी शामिल रहा है। यह भी अन्य व्यक्तियों की तरह सनी देओल के करीबी व्यक्तियों में से एक है। जिस फोटो को ‘आप’ नेताओं के साथ जोड़कर झूठा प्रचार किया जा रहा है उस पर बोलते हुए ‘आप’ नेता ने कहा कि हमारी पार्टी के सभी नेता हमेशा से आम लोगों से बिना किसी झिझक के प्रेमपूर्वक मिलते हैं।

उसी दौरान कई लोग नेताओं को फूल-गुलदस्ते देते हुए फोटो लेकर अपने सोशल मीडिया पर डालते हैं, परंतु सभी व्यक्तियों को नेता नहीं जानते होते कि वह किसके साथ किस तरह का संबंध रखता है। अगर कोई व्यक्ति हमारे किसी नेता के साथ फोटो खींच ले तो उसका मतलब यह नहीं होता कि हम उसके विचारों और घटिया हरकतों का समर्थन करते हैं।

उन्होंने कहा कि यह आदमी भारतीय जनता पार्टी और अकाली दल के साथ जुड़ा व्यक्ति है और हमारे पास ऐसे कई सबूत हैं जो यह साबित करते हैं कि वह सनी देओल और अन्य भाजपा नेताओं एवं अकाली दल से गहरा ताल्लुक रखता है।

उन्होंने अमरीक सिंह का भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, भाजपा सांसद हंसराज हंस, अकाली दल की नेत्री हरसिमरत कौर बादल के साथ की फोटो जारी कर कहा कि यह तस्वीर इस बात का पुख्ता सबूत है कि इस आदमी का गहरा संबंध अकाली-बीजेपी के नेताओं के साथ है।

उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह ऐसे संवेदनशील समय में भी गंदी राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब किसान नेताओं ने स्पष्ट कर दिया कि भाजपा-आरएसएस के लोग और सरकारी एजेंसियों ने मिलकर किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए ये साजिश रची, तो कैप्टन ने मोदी सरकार को बचाने के लिए और लोगों का ध्यान इस मुद्दे से हटाने के लिए ओछी बयानबाजी करनी शुरू कर दी है।

उन्होंने कहा कि ‘आप’ पहले दिन से ही यह कहती आ रही है कि कैप्टन मोदी सरकार के साथ मिलकर किसान आंदोलन को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह उनके विरुद्ध एक शब्द भी नहीं बोले जिन पर किसान संगठनों ने लाल किले की घटना को अंजाम देने का आरोप लगाया। बल्कि भाजपा और आरएसएस को बचाने के मकसद से ‘आप’ पर झूठे आरोप लगाकर कैप्टन वास्तविकता से लोगों का ध्यान भटकाना चाहते हैं। मोदी ने कैप्टन को बीजेपी और दीप सिद्धू को बचाने के काम पर लगा दिया है।

चड्ढ़ा ने कहा कि कैप्टन ने पहले तो इन काले कानूनों को भाजपा के साथ मिलकर बनाया, उसके बाद पंजाब के लोगों को झूठ बोलकर गुमराह करने की कोशिश की और अब कल की घटना के लिए भाजपा और सरकारी एजेंसियों को बचाने के लिए खुद आगे आ गए हैं। कैप्टन मोदी के साथ मिले हुए हैं और मोदी के एजेंडे पर काम कर रहे हैं। कैप्टन पंजाब या कांग्रेस पार्टी के मुख्यमंत्री नहीं, वे भाजपा के मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने कहा कि अब कैप्टन अमरिन्दर सिंह ऐसी घिनौनी राजनीति करना बंद करें और मोदी के साथ मिलकर किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिशें रचना छोड़ें।



और भी पढ़ें :