महामारी के समय में घर में जरूर रखें ये 15 वस्तुएं

अनिरुद्ध जोशी| पुनः संशोधित गुरुवार, 15 अप्रैल 2021 (18:24 IST)
घर में फालतू का सामान बहुत होता है और छूट जाती है वे जरूरी वस्तुएं जो हमारे जीवन में संकट के दौरान काम में आती है। जैसे महामरी के दौर में आप अपने घर में रखें ये 15 वस्तुएं जो बहुत काम आएगी।

1. लालटेन : आजकल मोमबत्ती या दियाबत्ती तो सभी के घरों में होती है, लेकिन लालटेन अब बहुत ही कम घरों में रही है। हालांकि इसकी जगह टॉर्ज का उपयोग किया जाता है। टॉर्च भी होना चाहिए, परंतु टॉर्च या सर्च लाइट के अलावा लालटेन भी होना चाहिए।

2. सिगड़ी : गैस चूल्हा और इलेक्ट्रीक चूल्हा तो सभी के घरों में होता है, लेकिन आजकल सिगड़ी बहुत कम ही घरों में देखी गई है। कभी यदि अचानक गैस कि किल्लत पड़ गई और लाइट भी नहीं है तो सिगड़ी बहुत काम आएगी। यदि आप सिगड़ी में नलीदार की बजाय लकड़ी के कोयले इस्तेमाल करेंगे तो धुंआ नहीं होगा।
3. घट्टी, सिलबट्टा और खल बत्ता : अब आजकल घरों में आनाज पीसने की छोटी घट्टी नहीं मिलती हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी यह पायी जाती है। आजकल तो बाजार में घरेलु चक्की भी मिलने लगी है। इसी तरह मसाला आदि पीसने का पत्थर, या खलबत्ता भी बहुत कम घरों में होता है। कभी यदि आटा चक्की बंद हुई या कर्फ्यू के दौरान आटे की जरूरत पड़ी तो मात्र दो बाइ दो फुट की घट्टी से आप हर तरह का अनाज घर में ही पीस सकते हैं। यह घट्टी उसी तरह बहुत काम की है जिस तरह की मिक्सर की जगह काम आने वाला खलबत्ता।
4. चकमक पत्थर : हालांकि यदि आपके पास मासिच या लाइटर है तो इस पत्थर को घर में रखने की जरूरत नहीं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि ये दोनों ही नहीं तरते हैं तो यह बहुत काम की चीज है। चकमक पत्थर एक ऐसा पत्थर है जिसे इसी के समान दूसरे पत्थर के साथ रगड़ने पर लाइटर जैसी चिंगारी निकलती है। प्राचीनकाल में इसी पत्थर की चिंगारी से आग लगाई जाती थी।

5. नेबुलाइजेशन मशीन : यह मशीन बहुत काम की है। इससे भाप ली जाती है। इससे गले और फेंफड़े में जमा कफ पिघलकर पेट में चला जाता है या बाहर निकल जाता है। खांसी, जुकाम, निमोनिया, अस्थमा, पल्मोनरी रोग आदि में यह बहुत ही लाभदायक है। कोरोना महामारी से निपटने में भी यह उपयोगी मानी जाती है।
6. नीम और अरंडी का तेल : लोगों के घरों में सभी तरह का तेल मिल जाएगा लेकिन नीम या अरंडी का तेल बहुत कम घरों में होगा। यह तेल बहुत ही चमत्कारिक है। आप कहीं खुले में सो रहे हैं, जंगल में घूम रहे हैं या आपको मच्छर काटने का डर सताता है तो यह नीम का तेल बहुत ही काम का है। नीम तेल को अपने शरीर के उन हिस्सों पर लगाएं जहां मच्छर काटने की संभावना है, जैसे कान के पीछे-आगे, हाथ के पंजे, कोहनियों और टखनों आदि जगहों पर। नीम का तेल आपके शरीर को बेक्टीरिया, किड़े और मच्छरों से सुरक्षित रखता है। यह संकट काल में आपके बहुत काम का साबित हो सकता है। यहीं काम अरंडी का तेल भी कर सकता है लेकिन इसकी एक खासियत यह भी है कि दूध के साथ आधा चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर पीने से पेट पूर्णत: साफ हो जाता है।
7. सूखे खाद्य पदार्थ : हालांकि यह सभी के घरों में होता है। यात्रा में, उपवास में या किसी दिन जब भोजन न बने तब सूखे मेवे और अन्य पदार्थ बहुत उपयोगी होते हैं। मैगी या नूडल्स के जमाने में आजकल इनको कोई नहीं पूछता। सूखे मेवों में काजू, बादाम, अखरोट, किशमिश, मनुक्का, पिस्ता, पिकन, खूबानी, छुआरा, मखाने, अंजीर, आदि आते हैं। उपरोक्त सूखे मेवे खाते रहने से शरीर मजबूत और सेहत मंद बना रहेगा साथ ही किसी भी प्रकार का रोग नहीं होगा। इसी तरह अन्य सूखे खाद्य पदार्थों में चना, गुढ़, मूंगफली, पापड़, सेव भी बहुत उपयोगी है। यह वह भोज्य पदार्थ हैं जो बहुत समय तक खराब नहीं होते हैं और यात्रा में या किसी अन्य संकट काल में यह काम आते हैं। एक मुट्ठीभर चले खाकर भी आप दिनभर की ऊर्जा इकट्ठी कर सकते हैं।
8. : आजकल महामारी के चलते यह दोनों ही घर में होना जरूरी है। डिसइंफेक्शन से जहां घर के फर्श, खिड़की दरवाजे आदि सैनिटाइज हो जाते हैं वहीं हैंड सैनिटाइजर से आप हाथों को सुरक्षित रख सकते हैं। इसके अलावा मास्क, जरूरी दवाइयां, गोलियां भी रखी जा सकती है। थर्मामीटर और बीपी चैक करने की मशीन के आलावा भी रखना जरूरी है।
9. केटली और सुराही : केटली चाय की भी होती है और अन्य तरह के ज्यूस रखने के लिए भी होती है। इसी तरह सुराही पानी की होती है। केटली में आप बहुत देर तक कोई चीज ताजा और गर्म रख सकते हैं तो बालु की मिट्टी से बनी सुराही में पानी ठंडा, स्वच्छ और शीतल बना रहता है। सुराही का पानी पीने का आनंद ही कुछ और होता है। घड़े, मटके और सुराही का पानी पीने में जो आनंद आता है, वह फ्रिज के ठंडे पानी में नहीं। जब आपका फ्रीज बंद हो और आपको ठंडे पानी की जरूरत हो तो सुराही का पानी ही काम आता है। इसी तरह केटली भी थर्मस का काम करती है।

10. मल्टीपल ड्रिल मशीन : बैटरी से चलने वाली छोटी मल्टीपल ड्रिल मशीन बड़े काम की चीज है। घर में किल ठोंकना हो या किसी लकड़ी या दीवास पर छेद करना हो यह ड्रिल मशीन तो काम आती ही है लेकिन इसके अलावा भी यह बहुत काम की है।

11. फोल्डिंग सीढ़ी : घर में अक्सर पंखा लगाने या किसी तस्वीर को दीवार पर टांगने के लिए आप किसी टेबल या कुर्सी का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसकी बजाय आप एक फोल्डिंग सीढ़ी खरीद लें। यह अच्छे किस्म के फाइबर की हो या फिर लोहे की। यह सीढ़ी आपके बहुत काम आएगी। हालांकि कुछ घरों में बांस की एक निसरनी होती है। यह सीढ़ी पंखा या तस्वीर लगाने के काम ही नहीं घर की पुताई करने या खिड़की से उतरकर भागने के काम भी आती है। हालांकि आप सोचेंगे तो यह और भी बहुत काम की है। कभी आपके घर के बाहर कोई कार्यक्रम आयोजित किया गया है तो यह पांडालों में पर्दा लगाने, लाइट लगाने और वंदनवार लगाने के काम भी आ सकती है।
12. फोल्डिंग डंडा: मजबूत प्लॉस्टिक या स्टीक का एक ऐसा फोल्डिंग स्टीक जो आधे हाथ बराबर का होता है, लेकिन जब इसे खोला जाए तो यह लगभग 4 से 5 फुट का हो सकता है। यह किसी रेडियो या कार के ऊपर लगने वाले एरियल की तरह होता है। यह छड़ी आपकी खिड़की, दरवाजे का पर्दा हटाने का काम ही नहीं करेगी, बल्कि यह कुत्ते को भगाने के काम भी आएगी। यात्रा के दौरान या रात-बिरात आते-जाते आप इस डंडे को रखेंगे तब आपको पता चलेगा कि यह डंडा कितने काम का है। हालांकि आप इसे जितना गोपनीय रखेंगे यह उतना काम का साबित होगा। वृद्ध लोग आमतौर पर लकड़ी का डंडा लेकर बाहार निकलते हैं, लेकिन महिलाएं ऐसा नहीं कर सकतीं। लड़कियों और महिलाओं के लिए यह बहुत काम का साबित हो सकता है।
13. मल्टीपल पेचकस: पेचकस बड़े काम की चीज है। यह हर घर में होता है लेकिन मल्टीपल पेचकस बहुत उपयोगी होता है। आपके मशीनरी बॉक्स में इस पेचकश का होना बहुत जरूरी है। यह आपके बिजली के सारे काम कर सकता है साथ यह आपकी कार या बाइक के लिए भी उपयोगी है। एक मजबूत और बहुउपयोगी मेचकस खरीदकर जरूर रखें यह किसी स्क्रू को कसने या खोलने का ही काम नहीं करता यह ऐसे भी काम कर सकता है जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। यह कभी किसी पिन को उखाड़ने तो कभी किसी जगह दरार करने का काम भी कर सकता है। कहते हैं कि सिर्फ एक पेचकस के दम पर एक कैदी जेल से भाग गया था।
14. हाथ का पंखा : बिजली है तो रूफ फेन या टेबल फेन काम का नहीं तो किसी काम का नहीं। ऐसे में हाथ का पंखा या परंपरागत जो पंखे होते हैं वे बहुत काम आते हैं। आज से मात्र 100 वर्ष पहले ये पंखे खूब प्रचलन में थे और एक से एक नक्काशी किए हुए पंखे मिलते थे। हालांकि आज भी यह मिलते हैं, लेकिन अब लोगों की इसमें रुचि नहीं है। जब लाइट चली जाती है तब बच्चों को गर्मी या उमस से बचाने के लिए ये ही पंखे काम आते हैं।
15. रेत घड़ी एवं चुम्बकीय दिशा सूचक कंपास या यंत्र : उत्तर और दक्षिण दिशा बताने वाला जेब में रखने वाला एक छोटा सा गोल कंपास या यंत्र बहुत काम का होता है। यह आपको बताएगा कि किस दिशा में उत्तर और किस दिशा में दक्षिण है। इससे आप अपनी स्थिति का पता लगा सकते हैं। यह यंत्र किसी गाइड की तरह काम आएगा। हलांकि रेत घड़ी का उतना काम नहीं लेकिन यह भी रखी जा सकती है।



और भी पढ़ें :