गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट विश्व कप 2023
  3. क्रिकेट विश्व कप 2023 न्यूज
  4. Australia never stepped a foot wrong after initian hiccups in World Cup
Written By
Last Updated : शुक्रवार, 17 नवंबर 2023 (14:50 IST)

खराब शुरुआत के बाद नहीं रुके कंगारु, ऐसा रहा फाइनल तक का सफर

खराब शुरुआत के बाद नहीं रुके कंगारु, ऐसा रहा फाइनल तक का सफर - Australia never stepped a foot wrong after initian hiccups in World Cup
ऑस्ट्रेलिया का विश्वकप वैसा शुरु नहीं हुआ था जैसे एक चैंपियन टीम शुरु करती है। टीम को अपने पहले दो मैचों में हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद कई क्रिकेट पंडितों ने मान लिया था कि यह टीम टॉप 4 में भी नहीं पहुंचेगी लेकिन अब यह टीम फाइनल में पहुंच गई है।

ऑस्ट्रेलिया ने विश्व कप के अपने शुरुआती दो मैचों में हार से उबरने के बाद लगातार आठ मैच जीतकर फाइनल तक का सफर तय किया। ऑस्ट्रेलिया ने गुरुवार को सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका को तीन विकेट से हराया। टीम के सामने 19 नवंबर को खेले जाने वाले फाइनल में भारत की चुनौती होगी।

विश्व कप फाइनल में पहुंचने तक ऑस्ट्रेलिया की यात्रा इस प्रकार है:

मैच एक: ऑस्ट्रेलिया चेन्नई में भारत से छह विकेट से हार गया।

विराट कोहली (85 रन) और केएल राहुल (97*रन) ने शुरुआती झटकों के बाद सूझबूझ का परिचय देकर 100 रनों से ज्यादा की साझेदारी कर भारत को चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में विश्वकप के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया पर जीत दिला दी है।

ऑस्ट्रेलिया को 199 रनों पर ऑल आउट कर भारत मुशकिल में थी जब भारत के सलामी बल्लेबाज और श्रेयस अय्यर 0 पर आउट हो गए। लेकिन विराट और राहुल ने समझदारी से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतरीन खेल दिखाया। विराट कोहली 85 रनों पर आउट हुए तब भारत जीत की दहलीज पर पहुंच गया था। ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल गेंदबाज जोश हेजलवुड रहे जिन्होंने 3 विकेट चटकाए।

मैच दो: ऑस्ट्रेलिया लखनऊ में दक्षिण अफ्रीका से 134 रन से हार गया।

क्विंटन डिकॉक के लगातार दूसरे शतक के बाद कागिसो रबादा की तूफानी गेंदबाजी से दक्षिण अफ्रीका ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में गुरुवार को यहां ऑस्ट्रेलिया को 134 रन से रौंदकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की थी।

दक्षिण अफ्रीका के 312 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने रबादा (33 रन पर तीन विकेट), केशव महाराज (30 रन पर दो विकेट), तबरेज शम्सी (38 रन पर दो विकेट) और मार्को यानसेन (54 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और पूरी टीम 40.5 ओवर में 177 रन पर ढेर हो गई जो उसकी दो मैचों में दूसरी हार थी।

मैच तीन: ऑस्ट्रेलिया ने लखनऊ में श्रीलंका को 5 विकेट से हराया।

लेग स्पिनर एडम जम्पा (47 रन पर चार विकेट) और कप्तान पैट कमिंस (32 रन पर दो विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के बाद आक्रामक बल्लेबाजी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप मैच में सोमवार को यहां श्रीलंका को 88 गेंद शेष रहते छह विकेट से शिकस्त दी थी।ऑस्ट्रेलिया की तीन मैचों में यह पहली जीत है और टीम अंक तालिका में आठवें स्थान पर आ गयी थी। श्रीलंका लगातार तीसरी हार के बाद नौवें स्थान पर थी।

श्रीलंका की पारी को 43.3 ओवर में 209 रन पर समेटने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 35.2 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 215 रन बनाकर जीत दर्ज की थी। ऑस्ट्रेलिया के लिए सलामी बल्लेबाज मिशेल मार्श ( 51 गेंद में 52) और जोश इंग्लिस  (59 गेंद में 58) ने अर्धशतकीय पारियां खेली जबकि ग्लेन मैक्सवेल ने 21 गेंद में नाबाद 31 और मार्नस लाबुशेन ने 60 गेंद में 40 रन का योगदान दिया।  श्रीलंका के लिए दिलशान मधुशंका ने तीन विकेट लिये। दुनिथ वेलालागे को एक सफलता मिली थी।

 मैच चार: ऑस्ट्रेलिया ने बेंगलुरु में ने पाकिस्तान को 62 रन से हराया।

ऑस्ट्रेलिया ने बैंगलूरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में पाकिस्तान को 65 रनों से हरा दिया। ऑस्ट्रेलिया ने  टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी कर 9 विकेट पर 368 रनों का पहाड़ जैसा लक्ष्य पाकिस्तान को दिया। पाकिस्तान ने बेहतरीन शुरुआत की लेकिन बढ़ती रन रेट के कारण मध्यक्रम ध्वस्त हो गया।

डेविड वार्नर (163) और मिचेल मार्श (121) के बीच 259 रनों की तूफानी की साझीदारी तथा जम्पा के कहर से चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया ने आईसीसी विश्वकप के 18वें मुकाबले में पाकिस्तान को 62 रनों से हरा दिया।

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में नौ विकेट के नुकसान पर 367 रन बनाए। 368 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान की पूरी टीम 45.3 ओवर में 305 के स्कोर पर ढेर हो गयी थी।

मैच पांच: ऑस्ट्रेलिया ने दिल्ली में नीदरलैंड को 309 रनों से हराया।
दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया ने नीदरलैंड्स को 309 रनों से रौंदकर वनडे विश्वकप इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज कर ली थी। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेटों के नुकसान पर 399 रन बनाए थे। इसके जवाब में नीदरलैंड्स की टीम 21 ओवर में सिर्फ 91 रनों पर ही आउट हो गई थी।

ऑस्ट्रेलिया ने डेविड वार्नर (104) और स्टीव स्मिथ (71) के बीच 132 रन की शतकीय साझीदारी के बाद ग्लेन मैक्सवेल (106) के तूफानी शतक और जंपा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत बुधवार को यहां आईसीसी एक दिवसीय विश्वकप मुकाबले में नीदरलैंड्स को रिकार्ड 309 रनों से हराकर विश्वकप की सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी।

400 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी नीदरलैंड्स की शुरुआत बेहद खराब रही और पांचवें ओवर में ही उसने पहला विकेट मैक्स ओ डाउड छह रन के रूप में खो दिया, ओ डाउड को स्टार्क ने बोल्ड आउट किया। इसके बाद नीदरलैंड्स के विकेट लगातार गिरते रहे। और उसकी पूरी टीम 21 ओवर में 90 रन पवेलियन लौट गई थी।

मैच छह: ऑस्ट्रेलिया ने धर्मशाला में न्यूजीलैंड को पांच रन से हराया।

ट्रैविस हेड (109) और डेविड वार्नर (81) के बीच 175 रन की तूफानी भागीदारी की के बाद सधी हुयी गेंदबाजी और चुस्त क्षेत्ररक्षण की मदद से आस्ट्रेलिया ने आईसीसी विश्व कप के रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड को पांच रन से हरा दिया।

हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के खूबसूरत मैदान पर आस्ट्रेलिया ने टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करते हुये 388 रन का स्कोर खड़ा किया जिसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम नौ विकेट पर 383 रन ही बना सकी।न्यूजीलैंड के लिए रचिन रविंद्र ने 116 रन बनाये।ऑस्ट्रेलिया के लिए एडम जम्पा ने तीन विकेट लिये।

मैच सात: ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 33 रनों से हराया।

मार्नस लाबुशेन (71) की शानदार पारी के बाद एडम जम्पा (21 रन पर तीन विकेट) के अलावा तेज गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की मदद से आस्ट्रेलिया ने शनिवार को इंग्लैंड को 33 रन से एक और हार झेलने पर मजबूर कर दिया। 2019 के विश्व कप विजेता की सात मैचों में यह छठवीं हार थी जिससे उसका स्थान अंतिम पायदान पर हो गया।

नरेन्द्र मोदी स्टेडियम में आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुये 286 रन बनाये जिसके जवाब में गत विजेता इंग्लैंड की पूरी टीम 48.1 ओवर में 253 रन पर सिमट गयी।

मैच आठ: ऑस्ट्रेलिया ने पुणे में अफगानिस्तान को तीन विकेट से हराया।

पैर में जकड़न के बावजूद ग्लेन मैक्सवेल के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और कप्तान पैट कमिंस के साथ उनकी रिकॉर्ड शतकीय साझेदारी से ऑस्ट्रेलिया ने बेहद विषम परिस्थितियों से उबरते हुए मंगलवार को यहां अफगानिस्तान को तीन विकेट से हराकर लगातार छठी जीत के साथ आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह पक्की की।

अफगानिस्तान के 292 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मैक्सवेल (128 गेंद में 201 रन, 21 चौके, 10 छक्के) ने दोहरा शतक जड़ा जिससे ऑस्ट्रेलिया ने 91 रन पर सात विकेट गंवाने के बावजूद 46.5 ओवर में सात विकेट पर 293 रन बनाकर जीत दर्ज की।

मैक्सवेल ने कमिंस (68 गेंद में नाबाद 12) के साथ आठवें विकेट के लिए 202 रन की अटूट साझेदारी की जो एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास में अंतिम तीन विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी है। इस साझेदारी में मैक्सवेल के दबदबे का अंदाजा इससे लगता है कि उनका योगदान इसमें 179 रन का रहा।

मैच नौ: ऑस्ट्रेलिया ने पुणे में बांग्लादेश को आठ विकेट से हराया।

स्टार आल राउंडर मिचेल मार्श ने नाबाद 177 रन की धुआंधार पारी के दौरान 17 चौके और नौ छक्के जड़े जिससे आस्ट्रेलिया ने यहां विश्व कप के अपने अंतिम लीग मैच में बांग्लादेश को आठ विकेट से हराकर सेमीफाइनल के लिए अच्छा अभ्यास किया।आस्ट्रेलिया ने मार्श के तीसरे वनडे शतक तथा डेविड वार्नर (53 रन) और स्टीव स्मिथ (नाबाद 63 रन) के अर्धशतकों की बदौलत 307 रन का लक्ष्य 32 गेंद रहते हासिल कर लिया।इससे पहले तौहिद हृदय (74 रन) के अर्धशतक की बदौलत बांग्लादेश ने आठ विकेट पर 306 रन का प्रतिस्पर्धी स्कोर खड़ा किया।

सेमीफाइनल: ऑस्ट्रेलिया ने कोलकाता में दक्षिण अफ़्रीका को तीन विकेट से हराया।

पांच बार के चैम्पियन आस्ट्रेलिया ने गुरूवार को यहां दूसरे सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका को तीन विकेट से हराकर अपने आठवें विश्व कप फाइनल में प्रवेश किया जिसमें 19 नवंबर को अहमदाबाद में उसका सामना मेजबान भारत से होगा।टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम डेविड मिलर की दबाव भरी परिस्थितियों में खेली गयी 101 रन शतकीय पारी के बावजूद 49.4 ओवर में 212 रन पर सिमट गयी।

आस्ट्रेलिया ने 47.2 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 215 रन बनाकर जीत हासिल की जिसमें शुरू में ट्रेविस हेड की 48 गेंद में 62 रन की अर्धशतकीय पारी ने अहम योगदान दिया।दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर तबरेज शम्सी (42 रन देकर दो विकेट), केशव महाराज (24 रन देकर एक विकेट) और ऐडन मार्कराम (23 रन देकर एक विकेट) ने शानदार गेंदबाजी कर आस्ट्रेलिया को आसानी से जीत हासिल नहीं करने दी।
ये भी पढ़ें
FIFA WC Qualifiers में मिली भारत को शानदार जीत, कुवैत को 1 गोल से हराया