Corona virus : मध्यप्रदेश में शराब बनाने वाली फैक्टरियां बनाएंगी सैनिटाइजर और स्पिरिट

Last Updated: शुक्रवार, 27 मार्च 2020 (22:46 IST)
भोपाल। कोरोना (virus) के फैलने के कारण कीटाणुनाशकों की बढ़ती मांग के बीच मध्य प्रदेश सरकार ने शराब बनाने वाली फैक्टरियों को और का उत्पादन करने के आदेश दिए हैं।
मध्य प्रदेश के आबकारी आयुक्त राजेश बहुगुणा की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते सैनिटाइजर की मांग बढ़ गई है। इसलिए डिस्टिलरी (शराब फैक्टरी) स्पिरिट और सैनिटाइजर तैयार कर सरकारी और निजी अस्पतालों में इन उत्पादों की उपलब्धता सुनिश्चित करें।

इस आदेश में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित 11 डिस्टिलरी के नाम भी लिखे गए हैं, जिन्हें इनका उत्पादन करने के लिए कहा गया है। आदेश में कहा गया है कि आपूर्ति की प्रक्रिया की निगरानी के डिवीजनल आयुक्त और उपायुक्त करेंगे।

आबकारी विभाग ने सरकारी आबकारी गोदामों के माध्यम से सैनिटाइजर की आपूर्ति करने के आदेश भी दिए हैं।डिस्टिलरी द्वारा तैयार इन उत्पादों की आसपास के जिलों में आपूर्ति की जाएगी। इसी बीच, राज्य शासन ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए मृगनयनी एम्पोरियम में हैंड सैनिटाइजर किफायती दर पर उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है।

प्रमुख सचिव एमएसएमई तथा आयुक्त उद्योग मनु श्रीवास्तव ने बताया कि राज्य लघु उद्योग निगम द्वारा संचालित एम्पोरियम पर यह सैनिटाइजर प्रथम चरण में 27 मार्च से भोपाल तथा इंदौर में उपलब्ध होंगे। अगले चरण में ग्वालियर, जबलपुर और रीवा के एम्‍पोरियम में उपलब्ध होंगे। सैनिटाइजर सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक उपलब्ध रहेंगे।

उन्होंने बताया कि 90 मिली सैनिटाइजर का मूल्य 50 रुपए तथा 180 मिली के सैनिटाइजर का मूल्य 90 रुपए रखा गया है। एम्पोरियम में इस दौरान अन्य विक्रय संचालित नहीं होगा। एक समय में 3 से अधिक ग्राहकों को एम्पोरियम में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मांग के अनुसार स्वास्थ्य विभाग अन्य अस्पतालों तथा जिला प्रशासन को भी सैनिटाइजर उपलब्ध कराएगा।




और भी पढ़ें :