कोरोना संक्रमण से बचने के लिए 15 दिन घर से न निकलने का करें तय, अप्रत्याशित तरीके से बढ़ी संक्रमितों की संख्या: शिवराज

रहवासी संघ,कॉलोनी-मोहल्ला कमेटी लोगों को घरों से नहीं निकलने के लिए जागरुक करें

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 13 अप्रैल 2021 (21:03 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण में अब अप्रत्याशित तरीके से बढ़ोत्तरी हो रही है इसलिए लोग अब खुद तय करें कि वह 15 दिन के लिए अपने घरों से न निकलेंगे। यह कहना है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का। आज कोरोना संक्रमण की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तेजी से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है, वह बहुत अप्रत्याशित है अब अवेयरनेस के बिना काम नहीं चलने वाला और जनता के साथ के बिना काम नहीं चलने वाला।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए रहवासी संघ,कॉलोनी-मोहल्ला कमेटी लोगों को खुद से प्रेरित करें कि हमें 15 दिन घर से नहीं निकलना है। कॉलोनी और रहवासी संघ तय करें कि अनावश्यक रूप से बाहर नहीं जाना है। अगर कोई सामान की जरूरत होगी दो-तीन लोग हमारे जाएंगे और ले आएंगे और सब को बांट देंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत अनेक शहरों में बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज आ रहे हैं। मरीजों की संख्या देखते हुए अस्पतालों में लगातार बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जा रही है रहे। एम्स भोपाल में जितने बेड खाली हैं
वह कोरोना मरीजों के लिए उपयोग में लाए जाएंगे।

इसे साथ भोपाल में आरकेडीएफ और पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में बेड बढ़ाए गए हैं। इंदौर में इंडेक्स अस्पताल को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अरक्षित किया गया गया है। इसके साथ मुख्यमंत्री ने स्वयं सेवी संस्थाओं को आगे आकर कोविड केयर सेंटर चलाने
की अपील की है। वर्तमान में प्रदेश कुल 36,446 बेड उपलब्ध हैं। 52 में से 43 ज़िलों में कोरोना केयर सेंटर्स बनाए गए है जहाँ सामान्य लक्षण के मरीजों को भर्ती किया जाएगा। कोविड केयर सेंटर्स में बिस्तरों की संख्या लगभग 7,215 है।




और भी पढ़ें :