मुंबई में सख्ती से लागू होगा Lockdown, सीआईएसएफ के जवानों ने किया फ्लैग मार्च

Last Updated: गुरुवार, 21 मई 2020 (11:28 IST)
मुंबई। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने को सख्ती से लागू करने के लिए बुधवार रात दक्षिण के एक क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया। एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के कर्मियों सहित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की 5 कंपनियां धारावी समेत कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित इलाकों में तैनाती के लिए सोमवार को मुंबई पहुंचीं। मुंबई की धारावी बस्ती में सबसे अधिक संक्रमित मरीज मिले हैं।
ALSO READ:
Covid 19 : दिल्ली में Corona से मरने वाले 26 प्रतिशत से अधिक मरीज 50 से 59 वर्ष की आयु वर्ग के
उन्होंने बताया कि अपने हथियारों से लैस होकर के जवानों ने बुधवार रात को भेंडी बाजार इलाके में फ्लैग मार्च किया। मुंबई पुलिस के 700 से अधिक कर्मियों को अब तक से संक्रमित पाया गया है। उनमें से 10 की बीमारी से मृत्यु हो चुकी है। अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय बलों की तैनाती से मुंबई पुलिसकर्मियों को लॉकडाउन ड्यूटी में थोड़ी राहत मिलेगी।
इस बीच वाशिम जिला प्रशासन ने क्वारंटाइन मानदंडों का पालन नहीं करने वालों पर 2,000 रुपए का जुर्माना और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने और मास्क न पहनने के लिए 500 रुपए का जुर्माना लगाने का फैसला किया है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि यह फैसला उन लोगों के खिलाफ शिकायतों के मद्देनजर लिया गया है, जो हाल ही में वाशिम में लौटे हैं और गृह क्वारंटाइन नियमों का पालन नहीं कर रहे।

कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए लगाया गया लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई तक लागू रहेगा। महाराष्ट्र में बुधवार तक कोरोना वायरस के 39,297 मामले सामने आए हैं और 1,390 लोगों की मौत हुई है। देश में संक्रमण और उससे मौत के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र से आए हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :