बंगाल में फॉरेंसिक विशेषज्ञ बोस की कोरोना से मौत, रैपिड एंटीजन जांच शुरू

Last Updated: शुक्रवार, 7 अगस्त 2020 (16:38 IST)
कोलकाता। प्रसिद्ध फोरेंसिक चिकित्सा विशेषज्ञ का संक्रमण के कारण निधन हो गया है। जीवन के 80 बसंत देख चुके राबिन बोस को कोलकाता में बेलियाघाट के एक कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां 22 दिनों तक अस्पताल में रहने के बाद उन्होंने गुरुवार शाम अंतिम सांस ली।

दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर की शुरुआत कर दी है। स्वास्थ्य विभाग पहले से ही सरकारी अस्पतालों में किट की आपूर्ति कर चुका है। बंगाल सरकार ने कोलकाता के एमआर बांगुर अस्पताल में कोरोना संक्रमित किन्नर के मरीजों के लिए 6 बेड मुहैया कराए हैं।
राज्य सरकार ने गुरुवार को कोविड-19 मरीज प्रबंधन प्रणाली (सीपीएमस) शुरू करने की घोषणा की। इस प्रणाली के तहत राज्य के लगभग सभी अस्पतालों के मरीजों की अपडेटेड रिपोर्ट प्राप्त हो सकेगी। पश्चिम बंगाल में गुरुवार को कोरोनावायरस से 56 और मौतें होने से कुल मौतों की संख्या बढ़कर 1,902 हो गई है जबकि 2,954 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 86,574 हो गई है।
सरकारी स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक राज्य में बुधवार शाम तक 2,061 कोरोना मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई जिससे कुल स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 61,023 हो गई है। राज्य में कोरोना के 23,829 सक्रिय मामले हैं। पश्चिम बंगाल में गुरुवार को 25,224 नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं, वहीं अब तक कुल 10,28,251 नमूनों की जांच की जा चुकी है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :