दिल्ली में सस्ता हुआ कोरोना टेस्ट, प्राइवेट लैब या हॉस्पिटल में RT-PCR टेस्ट का रेट अब 300 रुपए

Last Updated: गुरुवार, 20 जनवरी 2022 (20:45 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona Test) के बढ़ते मामलों के बीच आम जनता को बड़ी राहत मिली है। दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को ऐलान करते हुए कोरोना टेस्ट के दाम घटा दिए हैं। दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि अब दिल्ली में टेस्ट करवाने के लिए सिर्फ 300 रुपए देने होंगे। पहले इस टेस्ट के लिए राजधानी दिल्ली के लोगों को 500 रुपए लगते थे। होम कलेक्शन सैंपल लेने के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट की 500 रुपए होगी, इसके लिए पहले 700 रुपए चुकाने होते थे। की कीमत 100 रुपए निर्धारित की गई है।


12 हजार से ज्यादा मामले आए : दिल्ली में गुरुवार को कोविड-19 के 12,306 नए मामले सामने आए तथा 43 और लोगों की मौत हो गई, जबकि संक्रमण दर घटकर 21.48 प्रतिशत हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक 10 जून 2021 के बाद से एक दिन में कोविड से मौत के यह सर्वाधिक संख्या है। दिल्ली में पिछले साल 10 जून को 44 लोगों की संक्रमण से मौत हुई थी। इस साल जनवरी में संक्रमण से अब तक 396 लोगों की मौत हो चुकी है।

बुधवार को 57,290 नमूनों की कोविड जांच की गई, जबकि मंगलवार को 57,776 नमूनों की जांच हुई थी। दिल्ली में बुधवार को संक्रमण से 35 लोगों की मौत हुई थी और 13,785 नए मामले सामने आए थे जबकि संक्रमण दर 23.86 प्रतिशत थी।

दिल्ली में पिछले गुरुवार को कोविड-19 के 28,867 मामले सामने आए थे। महामारी शुरू होने के बाद से एक दिन में आए यह सर्वाधिक मामले थे। वहीं, शुक्रवार को 24,383, शनिवार को 20,718, रविवार को 18,286, सोमवार को 12,527 और मंगलवार को 11,684 मामले सामने आए।

दिल्ली में पिछले शनिवार को संक्रमण दर 30.6 प्रतिशत थी। महामारी की इस लहर में यह सबसे ज्यादा संक्रमण दर थी। रविवार को संक्रमण दर 27.9 प्रतिशत, सोमवार को 28 प्रतिशत और मंगलवार को 22.5 प्रतिशत दर्ज की गई।
तीसरी लहर का पीक गुजरा : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की तीसरी लहर का चरम संभवत: गुजर चुका है। हालांकि उन्होंने आगाह किया कि दिल्ली अभी खतरे से बाहर नहीं आई है। दिल्ली में हाल ही में कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों में भारी वृद्धि उछाल देखने को मिला था, जब एक दिन में 28 हजार से ज्यादा मामले सामने आए थे।
संक्रमण दर भी बढ़कर 30 फीसदी के पार चली गई थी। जैन ने कहा कि इस उछाल को कोविड-19 की मौजूदा लहर का चरम माना जा सकता है और ऐसा लगता है कि इस लहर का चरम गुजर चुका है। बीते कुछ दिनों में रोजाना दर्ज होने वाले नए मामलों में गिरावट आई है। बुधवार को 24 फीसदी की संक्रमण दर के साथ 13 हजार से ज्यादा मामले सामने आए थे। गुरुवार को नए मरीजों की संख्या में और भी कमी आई है।



और भी पढ़ें :