इस वजह से कंगना रनौट को मिली Y प्लस श्रेणी की सुरक्षा

पुनः संशोधित रविवार, 13 सितम्बर 2020 (13:06 IST)
शिवसेना के विवाद के बाद एक्ट्रेस को मिली वाई प्लस सुरक्षा को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। सरकार के इस फैसले पर विपक्ष के कई नेताओं ने सवाल उठाए थे। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि मुंबई और महाराष्ट्र का अपमान करने वालों को सुरक्षा देने का केंद्र सरकार का फैसला आश्चर्यजनक और दुखद है।
अब केंद्र सरकार ने कंगना को वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा देने को लेकर असली वजह बताई है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि कंगना रनौट को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा, उनके पिता के रिक्वेस्ट करने पर दी गई है।
उन्होंने कहा कि कंगना के पिता ने अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश की सरकार से सुरक्षा मांगी थी जिसे केंद्र को प्रेषित कर दिया गया था। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि कंगना के पिता के अनुसार, अभिनेत्री सामाजिक विषयों पर अपनी प्रतिक्रिया दे रही थीं जो महाराष्ट्र के कुछ लोगों को रास नहीं आई।

रेड्डी ने कहा कि कंगना रनौट के पिता ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था और मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा था कि उनकी बेटी को डराया धमकाया जा रहा है। रनौट के पिता के अनुरोध पर मुख्यमंत्री ने केंद्र को स्थिति से अवगत कराया। जिसके बाद सुरक्षा देने का फैसला किया गया।

जी किशन रेड्डी से जब यह पूछा गया कि, सुरक्षा में खर्च होने वाले धन का भुगतान सरकार करेगी या कंगना रनौट? इसपर मंत्री ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया। केंद्रीय मंत्री रेड्डी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई, की मौत की जांच कर रही है और इसमें केंद्र की कोई भूमिका नहीं है।
गौरतलब है कि मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है। उन्होंने दावा किया था कि वह मुंबई में असुक्षित महसूस करती हैं। इसके बाद शिवसेना के नेता ने उनसे मुंबई वापस नहीं आने को कहा था। राउत के इस बयान के बाद एक्ट्रेस ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी।



और भी पढ़ें :