क्या लिखा है सिकंदर के मुकद्दर में?

Sikander
IFM
बॉलीवुड में परिवारवाद का जोर हमेशा रहा है। फिल्म अभिनेता, निर्माता, निर्देशक के बेटे-बेटियाँ फिल्मों में आना पसंद करते हैं क्योंकि दौलत और शोहरत दोनों इस क्षेत्र में हैं।

किरण और अनुपम खेर के बेटे सिकंदर भी अपना मुकद्दर अभिनय के क्षे‍त्र में आजमाने जा रहे हैं। उनके द्वारा अभिनीत ‍दो फिल्में ‘वुडस्टॉक विला’ और ‘समर 2007’ प्रदर्शन के लिए तैयार हैं।

बचपन से ही अभिनेता बनने का सपना
सिकंदर को अभिनय का माहौल बचपन से ही मिला। किरण और अनुपम खेर ऊँचे दर्जे के कलाकार हैं। उनको देख सिकंदर के मन में भी अभिनेता बनने की ख्वाहिश जागी। बहुत कम उम्र में ही वे फिल्मों से जुड़ गए।

यश चोपड़ा जब ‘दिल तो पागल है’ बना रहे थे, तब दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले सिकंदर उनके सहायक बनकर उनसे फिल्म निर्माण की बारीकियाँ सीख रहे थे। इसके बाद वे एक और दिग्गज फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली के ‘देवदास’ बनने के दौरान सहायक बनें।

इसके बाद सिकंदर ने अभिनय का प्रशिक्षण लेने की सोची और उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया।

पहला अवसर
फिल्मी सितारों के बेटे-बेटियों पर निर्माता-निर्देशक नजर रखते हैं, ताकि उनकी पहली फिल्म बनाकर वे लाभ ले सकें। सिकंदर पर संजय गुप्ता की नजर पड़ी। उन्होंने सिकंदर को बुलाकर ‘वुडस्टॉक विला’ की कहानी सुनाई और सिकंदर ने फिल्म के लिए हाँ कह दिया। यह एक थ्रिलर फिल्म है।

वैसे कहा जाता है कि सिकंदर को लेकर पहली फिल्म संजय लीला भंसाली बनाने वाले थे। ‘देवदास’ के दौरान ही उन्होंने सिकंदर को फिल्म के लिए पसंद कर लिया था, लेकिन बाद में उन्होंने ऋषि कपूर के बेटे रणबीर को लेकर ‘साँवरिया’ बनाने की घोषणा कर दी।

संजय की इस घोषणा से सिकंदर बेहद आहत हुए और डिप्रेशन में चले गए थे। हालाँकि सिकंदर इस बात से इंकार करते हैं। खैर, उनकी पहली फिल्म बनाने वाले संजय ही है। भंसाली न सही, गुप्ता ही सही।

एकता कपूर और सुनील शेट्टी ने भी सिकंदर को लेकर ‘रास्ते’ बनाने की घोषणा की थी, लेकिन फिल्म आगे नहीं बढ़ पाई।

डार्क फिल्म से शुरुआत
’वुड स्टॉक विला’ के साथ-साथ सिकंदर को एक और फिल्म ‘समर 2007’ मिल गई। इस फिल्म को सुहैल बना रहे हैं और यह मेडिकल स्टुडेंट्‍स की जिंदगी पर आधारित है। मेडिकल स्टुडेंट बने सिकंदर की इस फिल्म में युविका चौधरी नायिका हैं। कहानी सुनने के बाद सिकंदर ने यह फिल्म सिर्फ 15 मिनट में साइन कर ली थी।

आमतौर पर नए कलाकार की पहली फिल्म की कहानी लव स्टोरी रहती है, लेकिन सिकंदर की दोनों फिल्मों को डार्क फिल्म कहा जा सकता है। सिकंदर के करियर में इसका क्या असर होगा, इसका पता तो फिल्म के प्रदर्शित होने के बाद चलेगा, लेकिन सिकंदर अपनी फिल्मों के प्रति आश्वस्त हैं। सिकंदर की शख्सियत को देखते हुए ज्यादातर लोगों का मानना है कि एक्शन भूमिकाएँ उन पर खूब जमेगी।

Sikander
IFM
सारा जेन से नजदीकियाँ
सिकंदर भले ही कह रहे हों कि उनका सारा ध्यान इस समय फिल्मों पर हैं और प्यार के चक्कर में वे नहीं पड़ना चाहते हैं, लेकिन सिकंदर और सारा जेन कुछ समय पहले एक-दूसरे के बेहद नजदीक थे।

दोनों की मुलाकात एक पार्टी में हुई और जल्दी यह घनिष्ठता में बदल गई। दोनों ने बहुत सारा समय साथ गुजारा। उसके बाद सारा वीजे बन गई ज‍बकि सिकंदर अपना करियर बनाने में जुट गए।

समय ताम्रकर|
सिकंदर के मुकद्दर में क्या लिखा है और उनमें कितनी प्रतिभा है, इसका पता उनकी फिल्म देखकर ही चलेगा।



और भी पढ़ें :