इंग्लैंड में एक शख़्स का घर ही 'चोरी' हो गया

BBC Hindi| पुनः संशोधित मंगलवार, 2 नवंबर 2021 (14:39 IST)
में एक शख़्स तब हैरान रह गया जब उसने लौटकर देखा कि उसका घर पूरी तरह से ख़ाली है और बिना उसकी जानकारी के बेच दिया गया है।
मालिक रेवरेंड माइक हॉल को जब इस बारे में उनके पड़ोसियों ने बताया तो वो भागे-भागे लुटन शहर में अपने घर लौटे। यहं उन्होंने देखा कि घर पर काम चल रहा है और वहाँ मौजूद एक व्यक्ति दावा कर रहा है कि ये घर अब उसका है, वो इस मकान का मालिक है।

बीबीसी ने इस मामले की तहक़ीक़ात की और पाया कि ये मामला पहचान की चोरी का है। माइक हॉल की पहचान चुराकर उनका घर बेच दिया गया और बैंक से रक़म भी उड़ा ली गई। वो अगले ही दिन भागे-भागे वहाँ पहुँचे।
उन्होंने बीबीसी रेडियो 4 के एक कार्यक्रम 'यू एंड योर्स' में कहा, ''मैंने दरवाज़ा खोलने की कोशिश की, पर वो नहीं खुला। फिर एक व्यक्ति ने दरवाज़ा खोला। मैंने उसे धक्का दिया और भीतर गया, मुझे कुछ पता नहीं था कि वो वहाँ क्या कर रहा है। भीतर की हालत देख मैं हैरान रह गया, फ़र्नीचर, कारपेट, पर्दे - कुछ भी नहीं था।''

उस व्यक्ति ने उनसे कहा कि वो बिल्डर है और काम कर रहा है, जिस पर माइक हॉल ने कहा, मैंने ये घर नहीं बेचा। ये मेरा घर है।
फिर उन्होंने पुलिस को फ़ोन लगाया। मगर बिल्डर वहाँ से निकला और नए मकान मालिक के पिता को लेकर आ गया जिन्होंने बताया कि ये घर उन्होंने जुलाई में ख़रीदा था और ये अब उनका घर है।पुलिस ने शुरू में उनसे कहा था कि ये धोखाधड़ी का मामला नहीं है, मगर अब वो इसकी जाँच कर रहे हैं।

इस मकान के मालिक माइक हॉल वहाँ नहीं रहते, वो काम के लिए नॉर्थ वेल्स में रहते हैं। उन्होंने बताया कि 20 अगस्त को उनके पड़ोसियों ने उन्हें फ़ोन करके बताया कि उनके घर में कोई है और बत्तियाँ जली हुई हैं।
पुलिस की प्रतिक्रिया
माइक हॉल ने कहा, "इसके बाद हमने रजिस्ट्री के ऑनलाइन रिकॉर्ड खोजे, और पाया कि वहाँ 4 अगस्त को सच में किसी और का नाम दर्ज है।"

"पुलिस ने उसके बाद कहा, हम अब कुछ नहीं कर सकते, ये तो क़ानूनी मामला है, आपको जाना होगा और अपने वक़ीलों से बात करनी होगी।"

"मेरे लिए और भी बड़ा झटका था - एक तो मैं पहले ही से अपने घर का हाल देख सदमे में था - उस पर से पुलिस का ये कहना कि ये आपराधिक मामला नहीं है, ये सुन मुझे विश्वास ही नहीं हुआ। "
बीबीसी ने इसके बाद माइक हॉल का संपर्क स्थानीय बेडफ़ोर्डशायर की पुलिस से कराया, जिन्होंने अब जाँच शुरू कर दी है। पुलिस की एक प्रवक्ता ने कहा कि अभी तक किसी को गिरफ़्तार नहीं किया गया है।

'यू एंड योर्स' ने वो ड्राइविंग लाइसेंस बरामद कर लिया है जिसके ज़रिए माइक हॉल की पहचान चुराई गई। साथ ही उनके बैंक एकाउंट का भी ब्यौरा हासिल किया है जिसमें घर बेचने के पैसे जमा हुए, और घर को चोरी करने से संबंधित फ़ोन रिकॉर्डिंग भी हासिल कर ली है।
एक करोड़ 31 लाख रुपये में बिका घर
131,000 पाउंड यानी लगभग एक करोड़ 31 लाख रुपये में बिका घर, क़ानूनी तौर पर अब नए मालिक का घर है।

घर की बिक्री से जुड़े वकीलों का कहना है कि ये पुलिस जाँच का विषय है इसलिए वो इस पर अभी कुछ नहीं बोल सकते।

एक लॉ फ़र्म ने कहा, "हम पुलिस के साथ सहयोग करेंगे और अपने पेशेवर दायित्व को पूरा करेंगे।" बीबीसी ने इस फ़र्म का नाम नहीं प्रकट करने का फ़ैसला किया है।
ब्रिटेन में मकानों की ख़रीद-बिक्री को रजिस्टर करने वाली संस्था लैंड रजिस्ट्री ने पिछले वर्ष धोखाधड़ी के मामलों में 35 लाख पाउंड का मुआवज़ा दिया था।

लैंड रजिस्ट्री ने कहा, "हम पेशेवर लोगों, जैसे वकीलों के साथ काम करते हैं और उन पर तथा उन जाँचों पर भरोसा करते हैं जिनसे फ़र्ज़ी मकान मालिक बनने की कोशिशों को पकड़ा जाता है।"

"लेकिन हमारे प्रयासों के बाद भी, हर वर्ष कुछ ना कुछ धोखाधड़ी के मामले दर्ज किए जाते हैं।"

और भी पढ़ें :