श्रावण मास 2022 के व्रत और त्योहारों की लिस्ट

Lord Shiva Worship
पुनः संशोधित गुरुवार, 14 जुलाई 2022 (11:55 IST)
हमें फॉलो करें
Shravan month 2022 : इस बार श्रावण माह का प्रारंभ अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 14 जुलाई 2022 गुरुवार से हुआ है। 18 जुलाई को सावन का पहला सोमवार रहेगा। 22 अगस्त रविवार रक्षा बंधन के दिन श्रावण मास समाप्त हो जाएगा और भाद्रपद माह की शुरुआत हो जाएगी। दक्षिण भारत में श्रावण मास का प्रारंभ देर से होता है। आओ जानते हैं इस माह के प्रमुख व्रत और त्योहार की लिस्ट।

14 जुलाई मंगलवार : श्रावण मास प्रारंभ, कृष्‍ण पक्ष एकम, कावड़ यात्रा प्रारंभ।

15 जुलाई शुक्रवार : जया पार्वत व्रत जागरण।

16 जुलाई शनिवार : गणेश संकष्‍टी चतुर्थी का व्रत, पंचक प्रारंभ। जया पार्वत व्रत जागरण सामप्त।

17 जुलाई रविवार : कर्क संक्रांति, सूर्य की दक्षिणायन गति प्रारंभ।
18 जुलाई सोमवार : नाग मरुस्थले पर्व, मौना पंचमी, श्रावण का पहला सोमवार, महाकाल सवारी उज्जैन।

19 जुलाई मंगलवार : मंगला गौरी व्रत।

20 जुलाई बुधवार : शीतला सप्तमी व्रत, पंचक समाप्त, बुधाष्टमी व्रत, कालाष्टमी प्रारंभ जो 21 जुलाई तक रहेगा।

22 जुलाई गुरुवार : गुरु हरकिशन जयंती।
24 जुलाई रविवार : कामिका एकादशी व्रत, रोहिणी व्रत।
25 जुलाई सोमवार : सावन का दूसरा
सोमवार, महाकाल सवारी उज्जैन, सोम प्रदोष व्रत।

26 जुलाई मंगलवार : मंगला गौरी व्रत, मासिक शिवरात्रि, शिव चतुर्दशी व्रत।

28 जुलाई गुरुवार : हरियाली अमावस्या, जेड़ी दीप पूजा।

30 जुलाई शनिवार : चंद्रदर्शन, सिंधारा दोज। शुक्ल पक्ष दूज, इस्लामी नववर्ष।

31 जुलाई रविवार : स्वर्ण गौरी व्रत, झूला प्रारंभ, हरियाली तीज, मधुश्रवा तीज।
1 अगस्त सोमवार : सावन का तीसरा सोमवार, विनायक या वरद चतुर्थी, दूर्वा गणपति व्रत, महाकाल सवारी उज्जैन।

2 अगस्त मंगलवार : मंगला गौरी व्रत, नागपंचमी पर्व, चरक जयंती।

3 अगस्त बुधवार : कल्कि अवतार पूजन, षष्टी पूजा।

4 अगस्त गुरुवार : गोस्वामी तुलसीदास जयंती।

5 अगस्त, शुक्रवार : दुर्गाष्टमी व्रत।

8 अगस्त सोमवार : सावन का चौथा सोमवार, पवित्रा या पुत्रदा एकादशी, महाकाल सवारी उज्जैन। आशुरा के दिन।
9 अगस्त मंगलवार : भौम प्रदोष व्रत, मंगला गौरी व्रत, मुहर्रम।

11 अगस्त गुरुवार : श्रावण स्नान दान पूर्णिमा, रक्षाबंधन का पर्व, नारियल पूनम, सत्य व्रत। लव कुश जयंती।

12 अगस्त शुक्रवार : पूर्णिमा, वरलक्ष्मी व्रत, नराली पूर्णिमा।



और भी पढ़ें :