गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. ज्योतिष आलेख
  4. Benefits of Budhaditya Yoga
Written By
Last Updated: मंगलवार, 5 जुलाई 2022 (14:28 IST)

बुधादित्य योग से मिलते हैं ये 10 शुभ फल, क्या आपकी कुंडली में भी है सूर्य और बुध की युति

Budh surya ki yuti : 2 जुलाई 2022 को बुध ग्रह के मिथुन राशि में प्रवेश करने के साथ ही सूर्य से उसकी युति बनने से बुधादित्य योग बना है, जो 16 जुलाई तक रहेगा। बुध और सूर्य की युति को बुधादित्य योग कहा जाता है। आओ जानते हैं इसके 10 शुभ परिणाम।
 
बुधादित्य योग: बुधादित्य नाम से विख्यात यह योग अलग-अलग भावों में अतिविशिष्ट फल प्रदान करने वाला होता है। इस योग को शुभ माना जाता है। यह योग जिस भी राशि में बन रहा है उसे और उसकी मित्र राशि सहित दृष्टि भाव जहां पर है उसे विशेष फल प्रदान करता है।
10 शुभ फल :
1. धन समृद्धि प्राप्त होती है।
2. मान-सम्मान, यश और प्रसिद्ध बढ़ती है।
3. सरकारी पद पाने में सफल होता है।
4. बुद्धि तेजी होती है।
5. वाणी प्रखर होती है।
6. नेतृत्व क्षमता बढ़ती है।
7. उच्च पद और प्रतिष्ठा प्राप्त करता है।
8. व्यापार और नौकरी में सफलता मिलती है।
9. जातक कला और संगीत का प्रेमी होता है।
10. जातक को जीवन में ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ता है।
ये भी पढ़ें
सपने में बादल, बिजली और बाढ़ का क्या है शुभ-अशुभ संकेत