मैच जोकोविच-नडाल का, परीक्षा कोचों की...

मेलबोर्न| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 1 मार्च 2014 (15:29 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
मेलबोर्न। दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी राफेल अगले हफ्ते से शुरू होने वाले ग्रैंडस्लैम में नोवाक को पछाड़कर टेनिस जगत में अपनी श्रेष्ठता साबित करने का प्रयास करेंगे। इसके साथ ही मशहूर कोचों की परीक्षा की भी नई लहर शुरू होगी।


नडाल पिछले साल चोट के कारण इस टूर्नामेंट में भाग नहीं ले सके थे, लेकिन उन्होंने 2013 में 10 खिताब जीतकर शानदार वापसी की जिसमें फ्रेंच ओपन और अमेरिकी ओपन भी शामिल था।

अब स्पेन का यह धुरंधर जोकोविच की पर 3 साल की बादशाहत खत्म करना चाहेगा और 2012 के फाइनल में इस सर्बियाई से 6 घंटे तक चले मुकाबले में मिली हार का बदला चुकता करना चाहेगा।

टेनिस वेबसाइट के अनुसार नडाल ऐसे खिलाड़ी के तौर पर यहां खेलेंगे, जो बिना किसी स्टार के हैं। जोकोविच और रोजर फेडरर ने एंडी मरे के इवान लेंडिल को नियुक्त करने की नकल करते हुए क्रमश: बोरिस बेकर और स्टेफान एडबर्ग को कोच बनाया।

मरे हालांकि चोट से वापसी कर रहे हैं और फेडरर अब 32 साल के हैं। हालांकि अन्य दावेदार जैसे जुआन मार्टिन डेल पोत्रो और डेविड फेरर के लिए भी मौका कायम रहेगा। नडाल को अब भी उनके चाचा टोनी नडाल कोचिंग दे रहे हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :