साइना ने लगाई जीत की हैट्रिक

लियू झोउ (चीन)| वार्ता| पुनः संशोधित शुक्रवार, 16 दिसंबर 2011 (19:14 IST)
हमें फॉलो करें
भारतीय स्टार ने अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुए विश्व की तीसरे नंबर की खिलाड़ी चीन की वांग जिन को लगातार गेमों में 21-1, 22-20 से हराकर के ग्रुप बी में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया।


विश्व की चौथे नंबर की खिलाड़ी साइना ने चीनी खिलाड़ी से यह मुकाबला 39 मिनट में जीता। साइना ने इससे पहले ग्रुप बी में जापान की सयाका सातो और कोरिया की यून जू बेई को हराया था। साइना और वांग जिन अपने-अपने पहले दोनों मुकाबले जीतकर पहले ही सेमीफाइनल में स्थान बना चुकी थीं।

सेमीफाइनल में साइना का मुकाबला ग्रुप ए में दूसरे स्थान पर रही डेनमार्क की टाइन बौन से होगा, जिन्होंने कोरिया की जी ह्यून सुंग को 21-13, 21-9 से हराया। विश्व रैंकिंग में साइना जहां चौथे स्थान पर है वहीं बौन पांचवें स्थान पर है।

अन्य सेमीफाइनल ग्रुप-ए में चोटी पर रही चीन की वांग यिहान और उनकी हमवतन ग्रुप-बी की दूसरे नंबर की खिलाड़ी वांग जिन से होगा। विश्व की नंबर एक खिलाड़ी यिहान ने जर्मनी की जूलियन शेंक को 58 मिनट में 14-21, 21-14, 21-15 से हराया।


अपने ग्रुप में लगातार तीसरी जीत दर्ज करने का साइना को जबर्दस्त फायदा हुआ है, जिससे वह सेमीफाइनल में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी यिहान से भिडने से बच गई।
साइना ने वांग जिन के खिलाफ पहले गेम में 9-12 से पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी की और 12-12 से बराबरी हासिल कर ली। साइना ने फिर 17-13 की बढ़त बनाई लेकिन चीनी खिलाड़ियों ने स्कोर 17-17 से बराबर कर लिया। इसके बाद साइना ने लगातार चार अंक लेते हुए 21-17 से पहला गेम जीत लिया।

दूसरे गेम में साइना ने लगातार बढ़त बनाए रखी लेकिन वांग जिन ने भी उनका पीछा नहीं छोड़ा साइना एक समय इस गेम में 9-2 और 17-12 से आगे थी लेकिन चीनी खिलाड़ी ने 19-19 पर जाकर स्कोर बराबर कर दिया और फिर 20-19 की बढ़त भी बना ली।
मगर साइना ने निर्णायक मौकों पर संयम दिखाते हुए लगातार तीन अंक बटोरे और चीन की दीवार को ध्वस्त कर दिया। उन्होंने यह गेम 22-20 से जीत लिया।

भारतीय खिलाड़ी ने मैच के ऑलराउंड खेल का प्रदर्शन करते हुए विपक्षी को गलतियां करने के लिए मजबूर किया। साइना के लिए अच्छा मौका है कि वह साल के अंत में हो रहे इस टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में स्थान बना सकती हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :