टेनिस में करियर बनाने की योजना नहीं : मियाबी

इंदौर| ND| पुनः संशोधित मंगलवार, 7 अप्रैल 2009 (21:24 IST)
- कपीश दुब
की ने छोटी-सी उम्र में ही विश्व टेनिस में कई उपलब्धियाँ हासिल कर ली हैं। मगर उन्होंने अभी पेशेवर टेनिस खिलाड़ी बनने का इरादा नहीं किया है।


शहर में आयोजित एशियन आईटीएफ जूनियर बी-1 टेनिस चैंपियनशिप में मियाबी को बालिका वर्ग में शीर्ष वरीयता दी गई है। उन्होंने कहा- मैं अभी शौकिया खिलाड़ी की तरह ही टेनिस खेलती हूँ। मैं हाईस्कूल में पढ़ रही हूँ इसलिए पढ़ाई पर भी ध्यान देना होता है। खेल में करियर बनाना है या किसी अन्य क्षेत्र में यह बाद में तय करूँगी।
विश्व में 27 वीं रैंकिंग की जूनियर खिलाड़ी मियाबी ने कहा- मैं दूसरी बार इंदौर में खेलने आई हूँ। पिछली बार मुझे यहाँ अच्छा अनुभव मिला था। मैं एकल के सेमीफाइनल तक पहुँची थी जबकि युगल में मैंने फाइनल खेला था। इस बार मेरा खेल पहले से बेहतर है और मुझे खुद पर भरोसा है।

इंदौर आने से पहले मियाबी ने जापान ओपन जूनियर टेनिस टूर्नामेंट में एकल के फाइनल तक का सफर तय किया जबकि युगल में उन्हें खिताबी जीत मिली। उन्होंने कहा- लगातार टेनिस खेलने से थकावट तो नहीं है, लेकिन यहाँ का मौसम अलग है। इसका थोड़ा प्रभाव पड़ा है।
मियाबी विम्बल्डन और फ्रेंच ओपन जैसे टूर्नामेंट के जूनियर वर्ग में खेल चुकी हैं, जहाँ उन्हें पहले दौर में शिकस्त का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा- इस वर्ष मैं विम्बल्डन खेलने जाऊँगी। इस वर्ष अन्य ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट में खेलने की उम्मीद कम है, क्योंकि हमें स्कूल से छुट्टियाँ नहीं मिलेंगी।

कोच को जीत की उम्मीद : मियाबी के कोच हिरोया उमाकोशी को उम्मीद है कि जापानी खिलाड़ी यहाँ अच्छा प्रदर्शन करेंगे। पहली बार इंदौर आए हिरोया ने कहा- यहाँ जापान से मियाबी के अलावा दो लड़के और खेलने आए हैं। सभी अच्छे खिलाड़ी हैं।
उन्होंने बताया कि मियाबी प्रतिदिन तीन घंटे अभ्यास करती हैं और यह क्रम सप्ताह में छः दिन चलता है। साथ ही वे अपनी पढ़ाई पर भी ध्यान देती हैं।



और भी पढ़ें :