सेरेना के सिर नंबर वन का ताज

न्यूयॉर्क (वार्ता)| वार्ता|
अमेरिका की सेरेना विलियम्स ने रविवार देर रात यहाँ दूसरी वरीयता प्राप्त सर्बिया की येलेना यांकोविच को लगातार सेटों में 6-4, 7-5 से शिकस्त देकर तीसरी बार यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम कर लिया।


खचाखच भरे ऑर्थर ऐश स्टेडियम में चौथी वरीयता प्राप्त सेरेना ने पहले सेट में तीन बार यांकोविच की सर्विस तोड़ी और दूसरे सेट में चार सेट प्वाइँट बचाते हुए दो घंटे चार मिनट में मुकाबला जीतकर विश्व में नंबर एक की कुर्सी पर एक बार फिर से कब्जा जमा लिया। उनका यह नौवाँ ग्रैंड स्लैम खिताब है।

ताकतवर सेरेना : सेमीफाइनल में रूस की दिनारा सफीना को 6-3, 6-2 से मात देकर फाइनल में पहुँची 26 वर्षीय सेरेना के ताकतवर खेल के सामने सर्बियाई खिलाड़ी की एक नहीं चली। हालाँकि अपना पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल खेल रहीं यांकोविच ने दूसरे सेट को टाइब्रेक में ले जाने की भरसक कोशिश की, लेकिन वह इसमें नाकाम रहीं। सेरेना ने 1999 और 2002 में भी यहाँ खिताब जीता था।

घरेलू दर्शकों का फायदा : यांकोविच ने पहले सेट के तीसरे गेम में सेरेना की सर्विस तोडते हुए 2-1 की बढ़त बना ली थी, लेकिन घरेलू दर्शकों के सामने खेल रही सेरेना ने लगातार अगले चार गेम जीतते हुए अपनी बढ़त को 5-2 कर दिया।


नौवें गेम में यांकोविच ने एक बार फिर सेरेना की सर्विस तोड़कर स्कोर 5-3 कर दिया, लेकिन अगले गेम में वह अपनी सर्विस गँवा बैठीं और अमेरिकी खिलाड़ी ने पहला सेट अपने नाम कर लिया।
दूसरे सेट में दोनों खिलाड़ियों के बीच जबर्दस्त मुकाबला देखने को मिला। सेरेना दूसरे गेम में यांकोविच की सर्विस तोड़ने के काफी करीब पहुँच गई थीं, लेकिन सर्बियाई खिलाड़ी ने दो ब्रेक प्वाइँट बचाते हुए स्कोर 1-1 कर दिया।

इसके बाद दोनों खिलाड़ियों ने लँबी रैलियाँ खेलकर छठे गेम तक अपनी-अपनी सर्विस बरकरार रखी। हालाँकि यांकोविच को अनुभवी सेरेना से बराबरी कायम करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ रहा था।
सातवें गेम में यांकोविच ने सेरेना की सर्विस तोड़ी और अगले गेम में अपनी सर्विस बरकरार रखते हुए स्कोर 5-3 कर दिया, लेकिन नौवें गेम में 0-40 से पिछड़ रही सेरेना ने तीन सेट प्वाइंट बचाने में कामयाब रहीं।

दसवें गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच जोरदार मुकाबला देखने को मिला। यांकोविच पाँच ब्रेक प्वाइंट बचाते हुए चौथे ब्रेक प्वाइंट तक पहुँच गई थीं, लेकिन यहाँ वह डबल फॉल्ट कर बैठीं और उन्हें अपनी सर्विस गँवानी पड़ी। इससे एकबारगी पिछड़ रही सेरेना को 6-5 की बढ़त हासिल हो गई।
12वें गेम में यांकोविच जोरदार फोरहैंड मारकर एक मैच प्वाइंट बचाने में कामयाब रहीं, लेकिन सेरेना ने दूसरे मैच प्वाइंट पर जोरदार बैकहैंड विनर लगाते हुए तीसरी बार यूएस ओपन का खिताब अपने नाम कर लिया।

जीत का जश्न : इस जीत से उत्साहित सेरेना ने अपना रैकेट हवा में उछाल दिया और कोर्ट पर उछलकूद करने लगीं। इसके साथ ही सेरेना सोमवार को जारी होने वाली विश्व रैंकिंग में पाँच वर्ष बाद एक बार फिर पहले स्थान पर पहुँच जाएँगी।
खिताब जीतने के बाद सेरेना ने कहा कि मैं काफी उत्साहित हूँ। यह जीत इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके लिए मैंने कड़ी मेहनत की थी। इस जीत से सेरेना को 15 लाख डॉलर की पुरस्कार राशि मिली।



और भी पढ़ें :