ध्यानचंद की हॉकी स्टीक का प्रदर्शन

चंडीगढ़ (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
हॉकी प्रेमियों को शुक्रवार यहाँ वह ऐतिहासिक हॉकी स्टीदेखने का अनूठा अवसर मिला, जिससे हॉकी के जादूगर ने 1936 के बर्लिन ओलिम्पिक में अपना अंतिम मैच खेला था।


इस ऐतिहासिक हॉकी को मौजूदा चार देशों के पंजाब गोल्ड कप हॉकी के भारत और जर्मन के बीच लीग मैच में मध्यकाल के दौरान प्रदर्शित किया गया था।


ध्यानचंद ने अपने अंतिम मैच में इसी हॉकी से जर्मनी के खिलाफ तीन गोल कर भारत को 8-1 से जीत दिलाई थी।



और भी पढ़ें :