मुनाफा वसूली से सेंसेक्स 44 अंक लुढ़का

मुंबई| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 5 अगस्त 2010 (18:12 IST)
मुंबई। शेयर बाजारों में पिछले तीन कारोबारी सत्रों से जारी तेजी के बाद गुरुवार को निवेशक सावधान हो गए और ऊँचे मूल्यों पर मुनाफा काटने के लिए की गई बिकवाली के दबाव में का 30 प्रमुख शेयरों वाला सूचकांक 44 अंक टूट गया।

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में सेंसेक्स 18295.43 और 18156.45 अंक के दायरे में घूमने के बाद 44.61 अंक की गिरावट के साथ 18172.83 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 20.75 अंक गिरकर 5447.10 अंक पर टिका। सेंसेक्स पिछले तीन कारोबारी सत्रों में करीब 350 अंक चढ़कर 30 महीने के शीर्ष स्तर को छू चुका है। आज उच्च स्तर पर निवेशकों की मुनाफा वसूली से खाद्य मुद्रास्फीति में गिरावट और मानसून की प्रगति जैसे सकारात्मक कारक फीके पड़ गए।
उधर अमेरिका स्थित शेल गैस परियोजना में 60 प्रतिशत हिस्सेदारी लेने की रिलायंस इंडस्ट्रीज की घोषणा के बावजूद कंपनी के शेयर भाव में तेज गिरावट दर्ज की गई। हालाँकि रुपए में गिरावट के रुख से आईटी शेयरों में आज भी बढ़त का रुख रहा।

सेंसेक्स में शामिल 30 में से 11 कंपनियों के शेयर लाभ के साथ जबकि 19 कंपनियों के शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। रिफाइनरी, हेल्थकेयर, बिजली, धातु एवं बैंकिंग शेयर बिकवाली दबाव में रहे, जबकि आईटी, रीयल्टी और ऑटो शेयरों ने बाजार को और गिरने से बचा लिया।
इसके अलावा, अन्य एशियाई बाजारों में सकारात्मक रुख एवं यूरोपीय बाजारों के तेजी के साथ खुलने बाजार थोड़ा संभल गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :