जांच रुकवाना चाहता है ऑस्ट्रेलियाई रेडियो स्टेशन

मेलबोर्न| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 20 जून 2013 (13:16 IST)
हमें फॉलो करें
मेलबोर्न। खुद को ब्रिटेन के शाही परिवार का सदस्य बताकर एक स्थानीय अस्पताल की भारतीय मूल की एक नर्स को दो पत्रकारों से फर्जी फोन कॉल कराने के मामले में शामिल एक कथित रूप से इस संबंध में जारी जांच को रुकवाने की कोशिश कर रहा है।


ऑस्ट्रेलियाई कम्युनिकेशंस एंड मीडिया अथॉरिटी (एसीएमए) ने कहा कि सिडनी रेडियो स्टेशन 2 डे एमएफ ने इस मामले में एसीएमए की जांच रुकवाने के लिए फेडरल कोर्ट में याचिका दायर की है।

रेडियो स्टेशन के दो पत्रकारों ने भारतीय मूल की एक नर्स को एक कॉल करके उससे कहा कि वे ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्य हैं और के इलाज के बारे में जानकारी चाहते हैं जिसके बाद नर्स ने लंदन के ‘किंग एड्वर्ड सात अस्पताल’ के उस वार्ड में इस कॉल को हस्तांतरित कर दिया था, जहां डचेज़ ऑफ कैम्ब्रिज़ का इलाज चल रहा रहा था। इस विषय पर विवाद खड़ा हो जाने के बाद इस नर्स ने आत्महत्या कर ली थी।

कॉल के दौरान महारानी और प्रिंस चार्ल्स के रूप में बात करने वाले डीजे माइकल क्रिश्चियन और मेल ग्रेग को घटना के बाद भूमिगत होने के लिए मज़बूर होना पड़ा था लेकिन क्रिश्चियन को ‘टॉप जॉकी’ का राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जाने के रेडियो स्टेशन के निर्णय के बाद इस माह की शुरुआत में इस संबंध में जांच शुरू की गई थी।

रेडियो ने न्यू साउथवेल्स फेडरल कोर्ट में याचिका दायर करके दलील दी है कि एसीएमए के पास मौजूदा जांच में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का अधिकार नहीं है। एफएम ने साथ ही कहा कि एसीएमए को यह जांच करने का अधिकार नहीं है कि टेलीफोन कॉल की रिकॉर्डिंग राज्य या संघीय कानूनों का उल्लंघन है या नहीं। (भाषा)



और भी पढ़ें :